वस्‍त्र मंत्रालय

वस्त्र उद्योग का वृहद विकास मानव निर्मित फाइबर उद्योग से होगा: श्री गोयल


वस्त्र उद्योग को 5-6 वर्षों में निर्यात बढ़कर 100 बिलियन अमरीकी डॉलर होने का भरोसा

Posted On: 27 OCT 2022 7:08PM by PIB Delhi

वस्त्र, उपभोक्ता कार्य, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण और वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने आज यहां उद्योग प्रतिनिधियों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि वस्त्र उद्योग का वृहद विकास मानव निर्मित फाइबर उद्योग से होगा। उद्योग के प्रतिनिधियों में पीटीए, एमईजी, फाइबर, यार्न, फैब्रिक और गारमेंट्स के निर्माता शामिल थे।

श्री गोयल ने उद्योग के प्रतिनिधियों से आह्वान किया और कहा कि हमें एक ऐसी स्थिति तक पहुंचने की आकांक्षा रखनी चाहिए जहां बाजार की पूरी मांग घरेलू आपूर्ति से ही पूरी हो जाए और इस प्रकार उद्योग आत्मनिर्भर बन सकता है। यह पॉलिएस्टर मूल्य श्रृंखला में शामिल लाखों बुनकरों के लिए कच्चे माल की उपलब्धता को सुरक्षित करेगा, जिससे तैयार माल के उत्पादन में वृद्धि होगी, जिससे निर्यात लक्ष्यों की प्राप्ति हो सकेगी।

उन्होंने सुझाव दिया कि उद्योग को एक दूसरे को समझना चाहिए और पूरी मूल्य श्रृंखला में पॉलिएस्टर के उत्पादकों और उपयोगकर्ताओं के बीच मुद्दों को सौहार्दपूर्ण ढंग से हल करने के लिए तालमेल से काम करना चाहिए।

उद्योग के प्रतिनिधियों ने कहा कि वे अगले 5 से 6 वर्षों में 100 बिलियन अमरीकी डॉलर के निर्यात लक्ष्य को प्राप्त करने को लेकर बहुत आशान्वित हैं।

उद्योग के प्रतिनिधियों ने कहा कि पॉलिएस्टर जैसे प्यूरिफाइड टेरेफ्थेलिक एसिड (पीटीए) और मोनोएथिलीन ग्लाइकॉल (एमईजी) के निर्माण के लिए प्रमुख कच्चे माल की उत्पादन क्षमता का विस्तार डाउनस्ट्रीम उद्योग के उत्पादन में वृद्धि के लिए आवश्यक है।

यह बताया गया कि पीटीए की अतिरिक्त इकाइयां स्थापित की जा रही हैं और डाउनस्ट्रीम उद्योग द्वारा लाखों करघे भी स्थापित किए जा रहे हैं जो अभी भी ठीक स्थिति में नहीं है।

 

*********

एमजी/एएम/केसीवी/डीवी



(Release ID: 1871544) Visitor Counter : 243


Read this release in: English , Urdu , Gujarati