पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय

सीएक्यूएम ने एनसीआर में गैस अवसंरचना/पीएनजी/सीएनजी कनेक्टिविटी शुरू करने के कार्य की प्रगति की समीक्षा की


एनसीआर में स्वच्छ ईंधन अपनाने की दिशा में बढ़ना - सीएक्यूएम की प्राथमिकता

सीएक्यूएम ने सीजीडी को बुनियादी ढांचे की शुरुआत करने के कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया

एनसीआर में 74.5 प्रतिशत औद्योगिक क्षेत्रों ने गैस कनेक्टिविटी और बुनियादी ढांचा हासिल कर लिया है

सितंबर 2023 तक सभी औद्योगिक क्षेत्रों को गैस अवसंरचना से जोड़ा जाएगा: सीजीडी

एनसीआर में अनुमोदित ईंधन सूची  01.01.2023 से पूरी तरह से लागू होगी

Posted On: 07 OCT 2022 5:26PM by PIB Delhi

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और निकटवर्ती क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के जिलों में गैस अवसंरचना/पीएनजी/सीएनजी कनेक्टिविटी शुरू करने के कार्य की प्रगति का जायजा लेने के लिए आज राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के ग्यारह (11) नगर गैस वितरकों (सीजीडी) और पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय (एमओपीएनजी) के साथ समीक्षा बैठक की। औद्योगिक गतिविधियों और वाहनों से उत्पन्न होने वाले वायु प्रदूषण से निपटने की अनिवार्य जरूरत को ध्यान में रखते हुए, सीएक्यूएम ने अगले सर्दियों के मौसम से पहले पूरे एनसीआर में गैस बुनियादी ढांचे की शुरुआत करने के कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया है।

उपलब्ध जानकारी के अनुसार, पूरे एनसीआर को 24 भौगोलिक क्षेत्रों (जीए) में विभाजित किया गया है और इसे 11 सीजीडी में विभाजित किया गया है। ये 11 सीजीडी उन्हें आवंटित जीए को गैस कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए जिम्मेदार हैं। ये 11 सीजीडी इस प्रकार हैं:   

 

क्र.सं

प्रतिष्ठान  का नाम

अधिकृत भौगोलिक क्षेत्र (जीए)

1.

इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (7)

i. राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली

ii. गौतम बौद्ध नगर,

iii. गाजियाबाद एवं हापुड़,

iv. मेरठ (ईएएए), मुजफ्फरनगर एवं शामली

v. गुरुग्राम

vi. करनाल

vii. रेवाड़ी

2.

अडानी टोटल गैस लिमिटेड (4)

    1. खुर्जा
    2. फरीदाबाद
    3. भिवानी, चरखी दादरी और महेंद्रगढ़
    4.  नूह और पलवल

3.

गेल गैस लिमिटेड (3)

i. मेरठ

ii. ताज ट्रेपेज़ियम ज़ोन

iii. सोनीपत

4.

इंडियन ऑयल अडानी गैस प्राइवेट लिमिटेड (3)

i. पानीपत

ii. बुलंदशहर (भाग) जिला

iii. बुलंदशहर (ईएएए), अलीगढ़ एवं हाथरस

5.

एचपीसीएल (1)

i. सोनीपत (ईएएए) एवं जींद

6.

बीपीसीएल (1)

i. रोहतक

7.

बागपत ग्रीन एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड (1)

i. बागपत

8.

टोरेंट गैस प्राइवेट लिमिटेड(1)

i. अलवर (भिवाड़ी को छोड़कर) और जयपुर

9.

हरियाणा सिटी गैस (केसीई) प्राइवेट लिमिटेड (1)

i. झज्जर

10.

हरियाणा सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन लिमिटेड (1)

i. गुरुग्राम

11.

हरियाणा सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन (भिवाड़ी) लिमिटेड (1)

i. भिवाड़ी (अलवर जिले में)

एनसीआर में कुल 240 औद्योगिक क्षेत्र हैं जिनमें से 74.5 प्रतिशत औद्योगिक क्षेत्रों (179 औद्योगिक क्षेत्रों) में गैस कनेक्टिविटी और बुनियादी ढांचा हासिल कर लिया गया है। एनसीआर में 963 सीएनजी स्टेशन; 22,24,055 घरेलू पीएनजी कनेक्शन; 5,185 वाणिज्यिक पीएनजी कनेक्शन; और 5,361 औद्योगिक कनेक्शन हैं।

एनसीआर के उद्योगों को पीएनजी सहित “स्वीकृत” स्वच्छ ईंधन को अपनाने की दिशा में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना सीएक्यूएम की प्राथमिकता है। आयोग ने पहले ही एनसीआर राज्य सरकारों को दिनांक 01.01.2023 से एनसीआर से (थर्मल पावर प्लांट को छोड़कर) कोयले को चरणबद्ध तरीके से हटाने और कोयले के उपयोग से पूरी तरह से बचने का निर्देश दिया है। वास्तव में, दिनांक 01.01.2023 से अनुमोदित ईंधन सूची पूरी तरह से संपूर्ण एनसीआर में लागू होगी।   

*******

एमजी / एएम / आर /वाईबी



(Release ID: 1865920) Visitor Counter : 228


Read this release in: Urdu , English