पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय

ऑयल इंडिया लिमिटेड ने डिगबोई में कार्बन उत्सर्जन में कमी करने और विकृत हुई वन्य भूमि को इसकी पूर्व अवस्था में वापस लाने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

Posted On: 30 APR 2022 7:27PM by PIB Delhi

ऑयल इंडिया लिमिटेड ने असम में डिगबोई वन प्रभाग के अंतर्गत आने वाले ऊपरी दिहिंग आरक्षित वन क्षेत्र (पश्चिम ब्लॉक) में कार्बन उत्सर्जन में कमी करने और विकृत हुई वन्य भूमि को इसकी पूर्व अवस्था में वापस लाने की एक परियोजना पर काम करने के लिए असम वन विभाग के डिगबोई वन प्रभाग के साथ 29 अप्रैल 2022 को एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। यह पहल ऑयल इंडिया लिमिटेड की सीएसआर परियोजना वसुंधरा के तहत की गई है।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001K9LZ.jpg

 

इस समझौता ज्ञापन पर ऑयल इंडिया लिमिटेड के सीजीएम-एफएचक्यू अफेयर्स श्री पल्लब बर्मन और डिगबोई वन प्रभाग के डीएफओ श्री टी सी रंजथ्रम ने असम सरकार के अपर मुख्य सचिव श्री रविशंकर प्रसाद, रेजिडेंट चीफ एक्जीक्यूटिव श्री प्रशांत बोरकाकोटी और असम सरकार तथा ऑयल इंडिया लिमिटेड के अन्य अधिकारियों की उपस्थिति में हस्ताक्षर किए। इस परियोजना के तहत मार्च 2025 तक 2,50,000 पौधे रोपकर 100 हेक्टेयर के विकृत वन क्षेत्र में वनरोपण और जंगल को घना बनाने की योजना है। यहां पर वृक्षारोपण करने के साथ ही वैकल्पिक आजीविका के अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से वन पर निर्भरता को कम करने के लिए बांस के एक बगीचे की स्थापना तथा अन्य गतिविधियों को भी शुरू करने की योजना है।

 

****

एमजी/एएम/एनके

 



(Release ID: 1821700) Visitor Counter : 241


Read this release in: English , Urdu