सामाजिक न्‍याय एवं अधिकारिता मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav

दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग (डीईपीडब्लूडी) कल अपने पहले द्वि-मासिक ई-न्यूजलेटर की शुरुआत करेगा

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री, डॉ. वीरेंद्र कुमार द्वारा इस ई-न्यूजलेटर का शुभारंभ कोझिकोड में दिव्यांगजनों के कौशल विकास, पुनर्वास और सशक्तिकरण के लिए कंपोजिट रीजनल सेंटर (सीआरसी) के मुख्य भवन के उद्घाटन के दौरान किया जाएगा

Posted On: 17 JAN 2022 7:59PM by PIB Delhi

दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग (डीईपीडब्लूडी) द्वारा दिव्यांगजनों के कौशल विकास, पुनर्वास और सशक्तिकरण के लिए के कंपोजिट रीजनल सेंटर (सीआरसी) के मुख्य भवन का उद्घाटन कोझीकोड में 18 जनवरी, 2022 को शाम 4:00 बजे के दौरान अपने पहले द्वि-मासिक ई-न्यूज़लेटर की शुरुआत करेगा, जिसे डॉ. वीरेंद्र कुमार, माननीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री, भारत सरकार द्वारा वर्चुअल रूप से जारी किया जाएगा। इस समारोह के दौरान श्रीमती अंजलि भवारा, भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय में सचिव, डॉ. प्रबुद्ध सेठ, भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के संयुक्त सचिव, श्री नचिकेता राउत, एनआईईपीएमडी, चेन्नई के निदेशक भी उपस्थित होंगे।

इस समारोह का आयोजन केरल के कोझिकोड के चेवयूर स्थित सीआरसी कैंपस में किया जा रहा है।

यह ई-न्यूजलेटर सूचना के प्रवाह में निरंतरता लाने और हमारे टार्गेट ओडियन्‍स के साथ अंतर को पाटने में सहायक साबित होगा। यह हमारे विभाग की गतिविधियों की जानकारी प्राप्त करने के लिए प्रवेश द्वार होगा। यह हमारी विभिन्न योजनाओं के प्रदर्शन पर भी नजर रखेगा।

यह ई-न्यूजलेटर विभाग की गतिविधियों को उपलब्ध मंच पर दिखाने की एक विनम्र कोशिश है। अपनी प्रकार के पहले ई-न्यूजलेटर में सभी माननीय मंत्रियों के संदेश, एक वर्ष के महत्वपूर्ण कार्यक्रमों की मुख्य विशेषताएं, सफलता की कहानियां, डिजिटल कॉर्नर, कोविड कॉर्नर, मीडिया हाइलाइट्स, आरपीडब्ल्यूडी अधिनियम के अंश, अमृत महोत्सव से संबंधित कार्यक्रमों और विभाग की आगामी कार्यक्रमों के बारे में जानकारी शामिल होंगी।

भविष्य में ई-न्यूजलेटर्स में और अधिक सुविधाएं शामिल की जाएंगी जिनमें रोजगार कॉर्नर, सिटीजन कॉर्नर, विभिन्न योजनाओं पर प्रश्नोत्तरी और विषय विशेषज्ञों के महत्वपूर्ण लेखों को नियमित रूप से शामिल करना शामिल है।

सीआरसी की स्थापना कोझीकोड में 2012 में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार के राष्ट्रीय बहु-विकलांग सशक्तीकरण संस्थान (एनआईईपीएमडी), चेन्नई (डीईपीडब्ल्यूडी के प्रशासनिक नियंत्रण के अंतर्गत आने वाला एक स्वायत्त संस्थान) के प्रशासनिक नियंत्रण के तहत इसका आउटरीच/विस्तार केंद्र के रूप में की गई थी। वर्तमान समय में इस केंद्र की सेवाओं को किराए के भवन से संचालित किया जा रहा है, जिसमें कुल 5,000 वर्ग फुट की जगह है, जिसमें सेवाओं के लिए 12 कमरे उपलब्ध हैं।

केरल सरकार ने सीआरसी की स्थापना करने के लिए 2013 में कोझिकोड के चेवयूर में 3 एकड़ जमीन आवंटित की थी। सीआरसी कोझिकोड का यह नवनिर्मित भवन 48,000 वर्ग फुट में है, जो लगभग 20 करोड़ की लागत से बना है। इमारत के ग्रांउड फ्लोर में लगभग 24,500 वर्ग फुट क्षेत्र शामिल है, जो व्यावसायिक चिकित्सा, फिजियोथेरेपी, विशेष शिक्षा, प्रोस्थेटिक और ऑर्थोटिक्स इकाइयों, व्यावसायिक पुनर्वास और प्रशिक्षण, पुनर्वास, ग्रुप चिकित्सा के लिए बहुउद्देशीय हॉलेंड हॉल के विभागों वाली सुविधाओं से लैस है। इसमें एक पूर्ण रूप से विकसित क्रॉस डिसेबिलिटी अर्ली इंटरवेंशन केंद्र भी मौजूद है। इमारत की पहली मंजिल 23,640 वर्ग फुट क्षेत्र में है, जिसमें नैदानिक मनोविज्ञान, स्पीच थेरेपी और ऑडियोलॉजी, सम्मेलन कक्ष, ऑडिटोरियम, लाइब्रेरी और आठ क्लास रूम की सुविधाएं शामिल हैं।

***

एमजी/एएम/एके/एसएस



(Release ID: 1790710) Visitor Counter : 95


Read this release in: English , Urdu