सूचना और प्रसारण मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav

52वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में "गोदावरी" के निदेशक निखिल महाजन ने कहा: मेरा मानना है कि फिल्मों को समय और स्थान का स्नैपशॉट होना चाहिए

हमारी फिल्म, फिल्म निर्माता निशिकांत कामत को एक श्रद्धांजलि है

Posted On: 23 NOV 2021 6:49PM by PIB Delhi

आईएफएफआई 52 में गोदावरी के निदेशक निखिल महाजन ने आज गोवा के पणजी में कहा, "मेरा मानना है कि अगर कोई 2070 में गोदावरी फिल्म देखता है, तो उसे इस बात का अंदाजा होना चाहिए कि 2020 में गोदावरी नदी कैसी थी। इस तरह, मैं चाहता हूं कि फिल्में समय और स्थान का स्नैपशॉट हों।"

महाजन ने कहा हमारी फिल्म हमारे समय के सबसे प्रतिभाशाली फिल्म निर्माताओं में से एक निशिकांत कामत को श्रद्धांजलि है। वह हम सबके बेहद करीब थे। मैं और जितेंद्र जोशी (जो मुख्य भूमिका में हैं) ने उस दिन फैसला किया कि हम इस पर एक फिल्म बनाएंगे। पुणे-52 और बाजी के बाद यह मेरी तीसरी फीचर फिल्म है।"

फिल्म की शुरुआत नायक को अपनी मृत्यु के निकट होने के अहसास होने की पृष्ठभूमि में होती है। गोदावरी नायक की इस यात्रा को चित्रित करती है जो अपने परिवार के भविष्य की तैयारी शुरू कर देता है और परंपराओं को भी संरक्षित करता है।

श्री महाजन ने कहानदियाँ जीवन का आधार हैं, वे सभ्यता का निर्माण करती हैं और गोदावरी एक ऐसी नदी है। यह बहुत ही पवित्र और महत्वपूर्ण नदी है और लोगों का इस नदी के बारे में विश्वास है कि यहाँ कुछ जादुई है। इस फिल्म के लिए मुझे पहली बार गोदावरी के दर्शन हुए। एक पूरी तरह से नए शहर को देखना और इसे एक फिल्म में चित्रित करना एक शानदार अनुभव था।"

फिल्म के बारे में

निखिल महाजन की फिल्म गोदावरी, महाराष्ट्र के एक शहर, वर्तमान में नासिक जो गोदावरी नदी के तट पर में बसा है, पर आधारित है। यह फिल्म एक क्रोधी जमींदार और उसके परिवार के सदस्यों की कहानी है, जिन्हें दो मौतों का सामना करना पड़ता है: एक जिसके बारे में वे जानते हैं और दूसरी जिसके लिए वे तैयार नहीं हैं। फिल्म में जितेंद्र जोशी मुख्य भूमिका में हैं।

इस फिल्म में जमींदार की एक आध्यात्मिक यात्रा प्रारंभ होती है, जहाँ वह गोदावरी नदी के साथ अपने संबंधों का शुभारंभ करता है। 'गोदावरी' जीवन और मृत्यु का गहन दार्शनिक अन्वेषण है।

निदेशक के बारे में

निखिल महाजन एक निर्देशक और लेखक हैं, जिन्हें गोदावरी (2021), पुणे-52 (2013) और बेताल (2020) के लिए जाना जाता है।

***

एमजी/एएम/एसएस



(Release ID: 1774511) Visitor Counter : 122


Read this release in: English , Urdu , Marathi