रक्षा मंत्रालय

रक्षा क्षेत्र में 'आत्मनिर्भर भारत' को बढ़ावा

रक्षा मंत्रालय ने एक भारतीय कंपनी के साथ एकीकृत पनडुब्बी रोधी युद्धक रक्षा सूट के लिए 1,350 करोड़ रुपये के अनुबंध पर हस्ताक्षर किए

Posted On: 27 AUG 2021 6:28PM by PIB Delhi

मुख्य बिंदु:

 

  •  करोड़ रुपए की लागत से 14 एकीकृत पनडुब्बी रोधी युद्धक रक्षा सूट की खरीद का अनुबंध
  •  'खरीदें और बनाएं (भारतीय)' श्रेणी के तहत अनुबंध 'आत्मनिर्भर भारत' अभियान को बढ़ावा देगा
  •  यह प्रणाली नौसेना की पनडुब्बी रोधी युद्धक क्षमता को मज़बूत करेगी

रक्षा मंत्रालय (एमओडी) ने 27 अगस्त, 2021 को नई दिल्ली में 1,349.95 करोड़ रुपये की लागत से 14 एकीकृत पनडुब्बी रोधी युद्धक (ASW) रक्षा सूट (आईएडीएस) की खरीद के लिए महिंद्रा डिफेंस सिस्टम्स लिमिटेड के साथ एक अनुबंध किया है। एक भारतीय फर्म के साथ अनुबंध रक्षा खरीद की 'खरीदें और बनाएं (भारतीय)' श्रेणी के तहत भारत के 'आत्मनिर्भर भारत' अभियान को एक महत्वपूर्ण बढ़ावा है और प्रौद्योगिकी विकास और उत्पादन में स्वदेशी रक्षा उद्योग को एक बड़ा प्रोत्साहन प्रदान करता है। यह प्रणाली भारतीय नौसेना की पनडुब्बी रोधी युद्धक क्षमता को बढ़ाएगी।

आईएडीएस में दुश्मन की पनडुब्बियों और टॉरपीडो को विस्तारित रेंज में पता लगाने के साथ-साथ दुश्मन पनडुब्बियों द्वारा दागे गए टॉरपीडो की दिशा को परिवर्तित करने के लिए एक एकीकृत क्षमता होती है।

रक्षा मंत्रालय ने सरकार की 'मेक इन इंडिया' पहल को बढ़ाने के अपने संकल्प और घरेलू रक्षा उद्योग के माध्यम से कई उपकरणों को शामिल करने के साथ उन्नत प्रौद्योगिकियों में 'आत्मनिर्भर' बनने के देश के संकल्प को प्रदर्शित करना जारी रखा है।

*****

एमजी/एएम/एमकेएस/

 



(Release ID: 1749799) Visitor Counter : 230


Read this release in: English , Urdu , Tamil