नीति आयोग

अटल इनोवेशन मिशन ने डसॉल्ट सिस्टम्स के सहयोग से छात्र उद्यमिता कार्यक्रम 3.0 लॉन्च किया


स्कूली छात्रों को भविष्य का खोजकर्ता और उद्यमी बनने के लिए प्रेरित करने के लिए यह कार्यक्रम डिजाइन किया गया है

Posted On: 17 AUG 2021 8:38PM by PIB Delhi

अटल इनोवेशन मिशन (एआईएम) नीति आयोग ने भारत में ला फोंडेशन डसॉल्ट सिस्टम्स के सहयोग से सोमवार को अटल टिंकरिंग लैब्स (एटीएल) के युवा नवप्रवर्तकों के लिए छात्र उद्यमिता कार्यक्रम' (एसईपी 3.0) की तीसरी श्रृंखला शुरू की है।

छात्र उद्यमिता कार्यक्रम 3.0 की थीम 'मेड इन 3डी-सीड फ्यूचर एंटरप्रेन्योर्स प्रोग्राम' पर आधारित है, जिसे 2017 में ला मेन ला पाटे फाउंडेशन और ला फोंडेशन डसॉल्ट सिस्टम्स यूरोप द्वारा फ्रांस में तैयार और शुरू किया गया था।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0010MS0.jpg

इस कार्यक्रम के हिस्से के रूप में, प्रत्येक स्कूल (6 छात्र और एक शिक्षक) की एक टीम को 3डी प्रिंटिंग का उपयोग करके अपना स्वयं का स्टार्ट-अप, डिजाइन और प्रोटोटाइप बनाने, मार्केटिंग अभियान तैयार करने, उत्पाद मूल्य निर्धारण को परिभाषित करने और विस्तार करने की रणनीति के लिए सीड फंडिंग आवंटित की जाएगी। इससे उन्हें 'स्टार्टअप कैसे काम करता है' का वास्तविक अनुभव प्राप्त होगा। कार्यक्रम के अंत में प्रत्येक स्कूल का स्टार्टअप एक चंचल प्रतियोगिता में भाग लेगा और उद्योग और शिक्षा के विशेषज्ञों के सामने अपना मार्केटिंग अभियान प्रस्तुत करेगा।

कार्यक्रम के सार को ध्यान में रखते हुए, एसईपी 3.0 छात्र अन्वेषक को डसॉल्ट स्वयंसेवकों के साथ मिलकर काम करने और विश्वसनीय सलाहकार मदद, प्रोटोटाइप और परीक्षण मदद, अंतिम-उपयोगकर्ता प्रतिक्रिया, बौद्धिक संपदा पंजीकरण और विचारों/प्रक्रियाओं/उत्पादों का पेटेंटिंग, विनिर्माण मदद और बाजार में उत्पाद को लॉन्च करने की अनुमति देगा।

एसईपी 3.0 के लिए 26 राज्यों की कुल 50 टीमों का चयन किया गया है। एटीएल मैराथन 2019 की शीर्ष 20 टीमों, डसॉल्ट द्वारा चयनित 10 टीमों, एस्पिरेशनल जिलों की 10 टीमों और जम्मू, कश्मीर, लद्दाख और उत्तर पूर्व क्षेत्रों की 10 टीमों का चयन किया गया है।

कार्यक्रम में दिलचस्प बात यह है कि इसमें फ्रेंच और भारतीय स्कूलों के बीच छात्रों और शिक्षकों के लिए बातचीत के अवसर होंगे। छात्रों के पास नई खोज के विकास के लिए मानसिक रूप से तैयार होने और स्टार्ट-अप संस्कृति के संपर्क के अलावा, स्कूली छात्रों और शिक्षकों के पास सांस्कृतिक और तकनीकी बातचीत के लिए फ्रांसीसी स्कूलों और फ्रांसीसी छात्रों के साथ बातचीत और सहयोग करने का एक अनूठा अवसर होगा। मिशन निदेशक, एआईएम, नीति आयोग डॉ. चिंतन वैष्णव ने एटीएल मैराथन 2019 के शीर्ष छात्रों को बधाई देते हुए कहा कि एसईपी युवा खोजकर्ताओं के लिए नई ऊंचाइयों तक पहुंचने का एक उम्दा अवसर है।

"इस कार्यक्रम में भाग लेने वाले सभी छात्रों को पता होना चाहिए कि वे पहले से ही समस्या और नवाचार पर काम कर उद्यमिता के क्षेत्र में बढ़ने के मामले में तीसरी श्रेणी में गए हैं। मुझे यह कहने में कोई संदेह नहीं है कि ये छात्र बेहतरीन प्रदर्शन करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा, एसईपी केवल समाधान लाने के बारे में है, बल्कि यह जानना है कि समाधान हम सभी के लिए कितना महत्वपूर्ण है।

डसॉल्ट सिस्टम्स फाउंडेशन इंडिया के अध्यक्ष सुदर्शन मोगासले ने अपने विचार साझा करते हुए कहा, "दूसरे संस्करण के साथ, हमने छात्रों की भावी पीढ़ी को फ्यूचर अन्वेषक बनने में सहायता करने के लिए अटल इनोवेशन मिशन के साथ काम किया है।"

उन्होंने आगे कहा कि यह कार्यक्रम स्कूली बच्चों को उद्यमशीलता और आविष्कारशील दिमाग विकसित करने का अवसर प्रदान करने के साथ-साथ गतिविधियों के आधार पर सीखने, अन्वेषण करने और चुनौतियों के माध्यम से उपयुक्त प्रदर्शन का अवसर प्रदान करेगा। स्कूली छात्रों और शिक्षकों के पास सांस्कृतिक और तकनीकी ज्ञान साझा करने के लिए फ्रांसीसी स्कूलों और छात्रों के साथ जुड़ने और बातचीत करने का एक अद्वितीय अवसर होगा।

एसईपी के वर्चुअल लॉन्च के दौरान बोलते हुए, मिशन निदेशक, आकांक्षी जिला कार्यक्रम नीति आयोग, डॉ. राकेश रंजन ने कहा कि एसईपी आकांक्षी जिला कार्यक्रम के विजन और मिशन के अनुरूप है। इसने उन छात्रों को एक नई उम्मीद दी है जो इस तरह के अवसरों की तलाश में थे।

उन्होंने कहा, "भारत के आकांक्षी जिलों में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है, इसलिए मुझे यकीन है कि एसईपी आगे चलकर एक बड़ी सफलता हासिल करेगी।"

अपने संबोधन में, मुंबई में फ्रांसीसी दूतावास में पश्चिमी क्षेत्र के लिए वैज्ञानिक और शैक्षणिक सहयोग के लिए, डॉ ओलिवियर फ्यूड्यम ने कहा, " हाथों से अध्यापन कला सीखने वाले छात्र के पारंपरिक शिक्षा में बदलाव होने जा रहे हैं।"

इसके अलावा, भारत में एआईएम और ला फोंडेशन डसॉल्ट सिस्टम्स ने एआईएम के मिशन निदेशक डॉ. चिंतन वैष्णव, अध्यक्ष, डसॉल्ट सिस्टम्स फाउंडेशन सुदर्शन मोगासले, मिशन निदेशक, एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट प्रोग्राम, नीति आयोग डॉ. राकेश रंजन और मुंबई में फ्रांसीसी दूतावास में पश्चिमी क्षेत्र के लिए वैज्ञानिक और शैक्षणिक सहयोग के लिए डॉ. ओलिवियर फ्यूड्यम की उपस्थिति में एसईपी 3.0 के लॉन्च की घोषणा की गई।

एसईपी 3.0 की शीर्ष टीमों का चयन एटीएल मैराथन के माध्यम से किया जाता है, जो एक राष्ट्रव्यापी प्रतियोगिता है जहां छात्र सामुदायिक चुनौतियों की पहचान करते हैं और अपनी एटीएल लैब के भीतर जमीनी स्तर पर नवाचार और समाधान तैयार करते हैं।

इस तरह की उद्योग भागीदारी युवा छात्रों की आविष्कारशीलता को बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण है, और उन्हें हमारे पृथ्वी को एक बेहतर स्थान बनाने में सक्षम बनाएगी।

*****

एमजी/एएम/एके/एसएस
 



(Release ID: 1746904) Visitor Counter : 548


Read this release in: English , Urdu , Punjabi