वित्‍त मंत्रालय

वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने यूएस-इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप फोरम (यूएसआईएसपीएफ) के वैश्विक निवेशक गोलमेज सम्मेलन को संबोधित किया

Posted On: 24 JUN 2021 10:56PM by PIB Delhi

केंद्रीय वित्त और कॉर्पोरेट मामले मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने आज यूएस-इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप फोरम (यूएसआईएसपीएफ)द्वारा आयोजित निवेशक गोलमेज सम्मेलन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भाग लिया। इस सम्मेलन में मास्टरकार्ड,मेटलाइफ, प्रूडेंशियल, एयर प्रोडक्ट्स, डेल, सॉफ्टबैंक और वारबर्ग पिंकससहित कुछ सबसे बड़े विदेशी निवेशकों ने भागीदारी की।

इस आयोजन ने निवेशकों को केंद्रीय वित्त मंत्री और भारत सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ संभावित निवेश के अवसरों पर चर्चा करने और वर्तमान में जारी नीति सुधारों की भूमिका पर विचार-विमर्श करने का अवसर प्रदान किया, जो उन्हें भारत में अधिक से अधिक कारोबार को सुगम तरीके से संचालन करने में सक्षम बनाएगा।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0019VOY.jpg

श्रीमती सीतारमण ने भारत के व्यापक सुधारों से संबंधित विकास और निवेश के लिए भारत के अवसरों पर चर्चा की, जिनके फलस्वरूपभारत विदेशी निवेशकों के लिए एक आकर्षक गंतव्य स्थल बनना जारी है। वित्त मंत्री ने कहा कि वृहद-आर्थिक स्थिरता, बुनियादी ढांचे के नेतृत्व वाले आर्थिक विकास के अवसर, वित्तीय क्षेत्र में सुधार और वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला में एक मजबूत राष्ट्रजैसे अनेक महत्वपूर्ण साधनों के साथ भारत वैश्विक आर्थिक महाशक्ति के रूप में आगे बढ़ रहा है। निवेशकों को व्यापक रूप से दी गई जानकारी में निम्नलिखित बिन्दु शामिल थे:

ए. देश में नए कोविडसंक्रमणों में उल्लेखनीय रूप से गिरावट और दूसरी लहर में कमी

बी. महामारी के दौरान सरकार द्वारा उठाए गए मजबूत राहत और सुधार उपाय

सी. हाल के महीनों में निरंतर वृहद-आर्थिक स्थिरता और आर्थिक सुधार में लचीलापन

डी. भारत को आत्मनिर्भर बनाने की अवधारणा (आत्मनिर्भर भारत)

ई. बुनियादी ढांचे आधारित आर्थिक विकास के लिए उठाए गए कदम

एफ. निवेशकों के लिए बहु-क्षेत्रीय अवसरों का सृजन

जी. पिछले 6 वर्षों में सुधार कार्यान्वयन का मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड

एच. एक निवेश गंतव्य के रूप में भारत की अन्य क्षमताऐं/लाभ

आई.जलवायु,ईएसजी और स्थिरता केंद्रित निवेशों में निवेश के अवसर

अपने समापन संबोधन में श्रीमती सीतारमण ने 5 "आई" इरादा, समावेश, निवेश, बुनियादी ढांचा और नवाचारद्वारा संचालित एक आत्मनिर्भर आधुनिक भारत के निर्माण के लिए एक समग्र दृष्टि के साथ आगे बढ़ने की प्रतिबद्धता दोहराई। वित्तमंत्री ने कहा कि देश अमेरिकी निवेशकों के साथ दीर्घकालिक संबंधों के लिए प्रतिबद्ध है और उनसे वर्ष में दो बार मिलने का प्रस्ताव भी देता है।

  1. निरंतर सुधार भारत को व्यापार करने के लिए एक शानदार स्थल बनाते हैं।
  2. कोविड और उसके बाद की समयावधि ने भारतीय अर्थव्यवस्था के लचीलेपन को दिखाया है।
  3. अब तक का उच्चतम जीएसटी संग्रह अर्थव्यवस्था और कर अनुपालन की अधिक नियमनिष्ठता की शानदार स्थिति को दर्शाता है
  4. अभिनव और अनुसंधान एवं विकास में काफी संभावनाएं हैं।
  5. हाल ही में एफडीआई सुधारों की निजीकरण नीति और पीएलआई योजना के साथ विदेशी निवेशकों के लिए नए अवसर सामने आ रहे हैं।
  6. वित्तीय स्थिति नियंत्रण में है और इसमें और सुधार की उम्मीद है।
  7. 2021 के पहले 5 वर्षों में 15 नए यूनिकॉर्न स्वयं ही बढ़ते हुए स्टार्टअप इकोसिस्टम को दुनिया में सर्वश्रेष्ठ में से एक के रूप में दर्शाते हैं।

आर्थिक मामलों के सचिव श्री अजय सेठ ने बजट 2021 के व्यापक विषयों पर प्रकाश डालते हुए जानकारी दी कि किए गएसुधार किस प्रकार से दूरगामी हैं और यह इस तरह की उपयोगी संवादात्मक चर्चा का भी निर्धारण करते हैं।

मास्टरकार्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकाकरी श्री अजय बंगाने उल्लेख किया, "जब संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत अपनेनिजी क्षेत्र की सर्वश्रेष्ठ कंपनियों के साथ मिलकार कार्य करते हैं तोभारत में और भारत के लिए नवाचार और प्रगति की दिशा मेंएक निष्पक्ष प्रतिस्पर्धा के साथ बहुत कुछ करते हुए इस लक्ष्य को पूरा भी किया जा सकता है।"

जॉनसन कंट्रोल के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री जॉर्ज ओलिवरने कहा, “हम भारत में विकास के अवसरों को लेकर बेहद उत्साहित हैं और तेजी से उभरती वैश्विक अर्थव्यवस्थाओं में से एक भारत में और विस्तार कर रहे हैं। भारत ने महत्वपूर्ण प्रगति की है और 2040 तक इसकी ऊर्जा मांग के दोगुना होने की उम्मीद है और हम इस विकास गाथा का समर्थन करने के इच्छुक हैं।

फर्स्ट सोलर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री मार्क विडमार ने कहा, “भारत में निवेश के अवसरों की दिशा में पहले से किए गए प्रयासों की सराहना की जानी चाहिए, विशेष रूप से औद्योगिक नीति और व्यापारिकअवरोधों को दूर करनेमें जिन्होंने इस पहल को सक्षम बनाया है। साथ ही, भारत के टीकाकरण और आर्थिक प्रगति को देखने के लिए प्रोत्साहित भी किया।

यूएसआईएसपीएफ के बारे में

यूएस-इंडिया स्ट्रैटेजिक पार्टनरशिप फोरम (यूएसआईएसपीएफ) एक गैर-लाभकारी संगठन है, जिसका प्राथमिक उद्देश्य आर्थिक विकास, उद्यमिता, रोजगार-सृजन और नवाचार के क्षेत्र में नीति के समर्थन के माध्यम से भारत-अमेरिका द्विपक्षीय और रणनीतिक साझेदारी को मजबूत बनाना है।

****

एमजी/एएम/एसएस/डीसी



(Release ID: 1730502) Visitor Counter : 154


Read this release in: English , Urdu