श्रम और रोजगार मंत्रालय

औद्योगिक श्रमिकों के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (2016=100) - नवंबर, 2020

Posted On: 31 DEC 2020 5:51PM by PIB Delhi

नवंबर, 2020 में अखिल भारतीय सीपीआई-आईडब्ल्यू  0.4 अंक बढ़कर 119.9  (एक सौ उन्नीस दशमल नौ) अंक के स्‍तर पर पहुंच गया। एक माह के दौरान प्रतिशत में हुए परिवर्तन की दृष्टि से अक्टूबर से सितंबर, 2020 के बीच इसमें   (+) 0.33 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि में में इसमें (+) 0.92 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।

मौजूदा सूचकांक में अधिकतम वृद्धि, खाद्य और पेय समूह के कारण हुई है जिसने कुल परिवर्तन में  (+) 0.25 प्रतिशत का योगदान दिया है।  वस्‍तु (आइटम) के स्तर पर चावल, अरहर की दाल, मछली ताजा, दूध, सरसों का तेल, सोयाबीन तेल, सूरजमुखी तेल, प्याज, आलू, मिर्च सूखी, चाय पत्ती, पकाया हुआ भोजन इत्‍यादि सूचकांक में वृद्धि के लिए जिम्मेदार हैं। हालाँकि, इस वृद्धि की जाँच पोल्ट्री (चिकन), टमाटर, बैंगन, गाजर, फूलगोभी, अदरक, लौकी, हरा धनिया, लौंग, मटर, संतरा इत्यादि ने विराम लगाया है जिससे सूचकांक में गिरावट का रुख बना।

केंद्र स्तर पर, पुदुचेरी में अधिकतम 4 अंकों की वृद्धि दर्ज की गई। अन्य में, 4 केंद्रों में 3 अंकों की वृद्धि देखी गई, 7 केंद्रों में 2 अंक और 30 केंद्रों में 1 अंक की वृद्धि हुई। शेष 25 केंद्रों के सूचकांक स्थिर रहे।

सभी मदों या वस्‍तुओं पर आधारित वर्ष-दर-वर्ष महंगाई नवंबर, 2020 में 5.27 प्रतिशत रही, जबकि पिछले महीने यह 5.91 प्रतिशत और पिछले वर्ष के इसी महीने में 8.61 प्रतिशत थी। इसी प्रकार, खाद्य महंगाई पिछले महीने के 7.48  प्रतिशत के मुकाबले 8.21 प्रतिशत रही और और एक वर्ष पूर्व इसी महीने में यह 9.87 फीसदी रही थी।

सीपीआई-आईडब्ल्यू (खाद्य और सामान्य) पर आधारित वाई-ओ-वाई मुद्रास्फीति

http://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001N61B.jpg

अक्टूबर और नवंबर, 2020 के लिए अखिल भारतीय समूह-वार सीपीआई-आईडब्ल्यू

 

क्रम सं.

समूह

अक्टूबर, 2020

नवंबर, 2020

I

खाद्य समूह

123.0

123.6

II

पान, सुपारी, तंबाकू और नशीले पदार्थ

132.5*

133.1

III

ईंधन और प्रकाश

117.4

117.4

IV

आवास

113.5*

113.5*

V

कपड़े, बिस्तर और जूते

126.4

126.8

VI

विविध समूह

117.0

117.2

 

सामान्य सूचकांक

119.5

119.9

 

सीपीआई-आईडब्ल्यूसमूह संकेत

http://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002PZW1.jpg

नवीनतम सूचकांक के बारे में बात करते हुए श्रम और रोजगार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री संतोष गंगवार ने कहा, 'वार्षिक मुद्रास्फीति में गिरावट के साथ सूचकांक में वृद्धि से श्रमिकों की बढ़ती आय और क्रय शक्ति के संदर्भ में दोहरे प्रभाव होंगे। इसका असर मुख्य रूप से उन सब्जियों के कारण हुआ जिनकी बाजार में अच्छी आपूर्ति थी और उपभोक्ताओं को राहत मिली।'

श्रम ब्यूरो के महानिदेशक श्री डीपीएस नेगी ने सूचकांक को जारी करते हुए कहा, ‘नवंबर, 2020 के दौरान सूचकांक में वृद्धि और मुद्रास्फीति की दर में गिरावट अन्य सरकारी एजेंसियों द्वारा संकलित और जारी किए गए अन्य मूल्य सूचकांकों के अनुरूप है।

उन्होंने बताया कि चावल, अरहर की दाल, मछली ताजा, दूध, सरसों का तेल, सोयाबीन तेल, सूरजमुखी तेल, प्याज, आलू, मिर्च, सूखा, चाय पत्ती, पकाया भोजन, कुकिंग गैस की कीमतों में वृद्धि, घरेलू सामान और सेवाएँ आदि के कारण सूचकांक में वृद्धि हुई है।

दिसंबर, 2020 के महीने के लिए सीपीआई-आईडब्ल्यू का अगला अंक 29 जनवरी, 2021, शुक्रवार को जारी किया जाएगा। यह कार्यालय की वेबसाइट www.labourbureaunew.gov.inपर भी उपलब्ध होगा।

श्रम एव रोजगार मंत्रालय से जुड़ा हुआ श्रम ब्यूरो, देश के औद्योगिक रूप से महत्वपूर्ण 88 केन्द्रों में से 317 बाजारों से एकत्रित किए गए चयनित वस्तुओं की खुदरा कीमतों के आधार पर प्रत्येक माह औद्योगिक कामगारों के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक का संकलन करता है। सूचकांक को 88 केंद्रों और पूरे भारत के लिए संकलित किया जाता है और इसे सफल महीने के अंतिम कार्य दिवस पर जारी किया गया है।

***

एमजी/ एएम/ केजे



(Release ID: 1685184) Visitor Counter : 87


Read this release in: English , Urdu