गृह मंत्रालय

मादक पदार्थ नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) की अखिल भारतीय स्‍तर पर अनेक कार्रवाइयों का असर, मुंबई प्रमुख गंतव्य के रूप में उभरा


मुंबई 1 किलोग्राम कोकीन, 2 किलोग्राम पी.सी.पी. (फ़ेंसीक्‍लाइडिन), 29.300 किलोग्राम एमडीए, 70 ग्राम मेफेड्रोन जब्त

अलग-अलग कार्रवाइयों में जम्‍मू में 56 किलोग्राम हशीश जब्त की गई जिसके प्रमुख प्राप्‍तकर्ता को मुंबई से गिरफ्तार किया गया

Posted On: 15 OCT 2020 7:35PM by PIB Delhi

भारत के महानगर विभिन्न वर्जित सामानों के लिए प्रमुख गंतव्य के रूप में काम करते हैं। एनसीबी ने तालमेल बैठाकर मुंबई और शेष भारत के साथ इसके सम्‍पर्कों में कार्रवाई करते हुए विभिन्न प्रकार का सामान जब्‍त किया और गिरफ्तारियां की, जो मादक पदार्थों की आपूर्ति श्रृंखला के लिए कठिनाइयां पैदा कर रही हैं।

एनसीबी मादक पदार्थों की तस्‍करी करने वालों के खिलाफ बड़े पैमाने पर अभियान चला रही है। मादक पदार्थों की तस्करी के खिलाफ अभियानों में, एनसीबी ने मादक पदार्थों के तस्करों की कार्य प्रणाली और उनके ठौर-ठिकानों की पहचान कर उनके छिपने के संभावित ठिकानों पर नियमित छापेमारी कर रही है।

ऑपरेशन 1: -

विशिष्ट जानकारी के आधार पर, एनसीबी एमजेडयू की टीम ने 12.10.2020 को वसई, पालघर के एम. अहमद से 1 किलोग्राम कोकीन और 2 किलोग्राम पी.सी.पी. (फेंसीक्‍लाइडिन) बरामद किया। पूछताछ के दौरान, एम. अहमद ने खुलासा किया कि वर्जित सामान को आगे बेचने के लिए एस. के. सौरभ ने इसे प्रदान किया था। एनसीबी की टीम ने खुफिया जानकारी एकत्र की और मैन्युअल खुफिया और तकनीकी निगरानी के आधार पर, एसके सौरभ को वसई, पालघर से 13.10.2020 को हिरासत में ले लिया। एस. के. सौरभ से लगातार पूछताछ के बाद 14.10.2020 को उसकी दुकान / गोदाम से 29.300 किलोग्राम एमडीए बरामद की गई। एस. के. सौरभ ने आगे खुलासा किया कि मादक पदार्थ ए. खानीवाडेकर और आर. खानीवाडेकर के हैं।

खानीवाडेकर को पकड़ लिया गया है और उससे पूछताछ जारी है। पूछताछ के दौरान, उसने खुलासा किया कि उसका भाई आर. खानीवाडेकर डीआरआई मामले में 483 किलोग्राम एफिड्रिन का आरोपी है और जमानत पर है। डीआरआई के छापे से पहले, उन्होंने वर्जित माल को एस. के. सौरभ की दुकान / गोदाम में स्थानांतरित कर दिया था और एस. के. सौरभ ने शिफ्टिंग करते समय उस बरामद किए गए उपरोक्त वर्जित सामान को निकाल लिया था।

ऑपरेशन 2: -

एनसीबी जम्मू की क्षेत्रीय इकाई ने 15.09.2019 को बैन टोल प्लाजा, नगरोटा, जम्मू में 55 पैकेटों में छिपाई गई लगभग 56.4 किलोग्राम चरस की जब्ती को प्रभावित किया और दिल्ली के एम. गुप्ता, ए. गंभीर और सोनिया को गिरफ्तार कर लिया। एनसीबी ने 1,91,000/-रुपये और एक्सयूवी 500 एसयूवी को भी जब्‍त कर लिया, जिसका इस्तेमाल वर्जित माल को छिपाने और इधर-उधर लाने-ले जाने के लिए किया जाता था। चरस मुंबई की किस्मत में थी। परिचालन इकाई और जम्मू क्षेत्रीय इकाई की एक संयुक्त कार्रवाई में, 56 किलोग्राम चरस मामले (15.09.2020 को जम्मू में जब्त) के प्रमुख संदिग्ध, यानी फारुक चांदबादशाह शेख (उम्र लगभग 40 वर्ष) सुपुत्र चांदबादशाह शेख, निवासी टीए- 5, मुसा मेंशन जोपड़पट्टी टैंक पकड़ी रोड बायकुला पश्चिम, हाफीजअली बहादुरखान रोड (एम.एन.वी37) खांड मुंबई शहर 400011 के नजदीक मुंबई-पुणे राजमार्ग से उसके एक सहयोगी कुर्बान अली सुपुत्र मोहम्मद दाउद निवासी मकान संख्‍या 1933 मुस्तफा राजा गली, बासनी, नागौर, राजस्थान के साथ पकड़ लिया गया।

आगे पूछताछ के दौरान, उन्होंने खुलासा किया कि वे मुंबई के एक मामले में भी शामिल थे, जिसमें उनके सहयोगियों से 6 किलो चरस जब्त की गई थी।

ऑपरेशन 3: -

एक अन्य कार्रवाई में, एनसीबी, ऑपरेशन्‍स ने अंधेरी वेस्ट इलाके में प्रदीप राजाराम साहनी को 70 ग्राम मेफेड्रोन के साथ गिरफ्तार किया था। प्रदीप ने खुलासा किया था कि वह अंधेरी और जुहू क्षेत्र में विभिन्न व्यक्तियों को मेफेड्रोन की आपूर्ति करता था। वे तीसरे पक्ष के माध्यम से बालाजी टेलीफिल्म्स प्राइवेट लिमिटेड में चपरासी/रनर के रूप में कार्यरत थे। एक तीसरे पक्ष के माध्यम से लिमिटेड। प्रदीप राजाराम साहनी के वितरण नेटवर्क की आगे जांच की जा रही है।

ऑपरेशन 4: -

मादक पदार्थों के वितरण नेटवर्क पर एक और कार्रवाई करते हुए, एनसीबी ने एक नाइजीरियाई नागरिक उका एमेका @ गॉडविन को गिरफ्तार कर लिया और उसके पास से 04 ग्राम कोकीन बरामद की गई थी।

जब्त मादक पदार्थ दक्षिण अमेरिकी देश से उत्पन्न हुई है और मादक पदार्थों की तस्करी करने वाले पर संदेह है कि वह के पाली हिल एरिया, बांद्रा, अंधेरी, जुहू और खार क्षेत्र में वर्जित माल पहुंचाता था।

आगे के सम्‍पर्कों की जांच चल रही है।

नार्को ट्रैफिकिंग के खतरे को मिटाने के लिए एनसीबी प्रतिबद्ध है।

 

*****

एमजी/एएम/केपी/डीसी



(Release ID: 1665056) Visitor Counter : 138


Read this release in: English , Urdu , Kannada