इलेक्ट्रानिक्स एवं आईटी मंत्रालय

माईजीओवी ने 'आत्‍मनिर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज' के विजेताओं की घोषणा की; आत्‍मनिर्भरता और नवाचार की भावना को प्रोत्‍साहित किया

Posted On: 07 AUG 2020 8:59PM by PIB Delhi

      'आत्‍मनिर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज'के तहत शॉर्टलिस्ट किए गए सभी ऐप 7 अगस्त को भारत के लोगों के लिए एक वेबकास्ट के माध्यम से प्रस्तुत किए गएइसका लाइव प्रसारण किया गया और वेबकास्ट के अंत में ऐप इनोवेशन चैलेंज के परिणामों (इस विज्ञप्ति के अंत में सूची संलग्न)की घोषणा की गई।

      प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने 4 जुलाई 2020 को'आत्‍मनिर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज'लॉन्च किया थाऔर उस समय उन्होंने ट्विटर पर लिखा था:

      आज मेड इन इंडिया ऐप्‍स बनाने के लिए तकनीकी और स्टार्ट-अप समुदाय के बीच भारी उत्साह है।उनके विचारों और उत्पादों को सुगम बनाने के लिए @ GoI_MeitYऔर @ AIMtoInnovate आत्‍मनिर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंजकी शुरुआत कर रहे हैं।

      प्रधानमंत्री ने एक लिंक्डइन पोस्ट में तकनीकी उद्यमियों से आह्वान करते हुए कहा, 'लेट्स कोड फॉर एन आत्‍मनिर्भर भारत' यानी आइये आत्‍मनिर्भर भारत की शुरुआत करें।

      चैलेंज ऐप को भारत सरकार के सिटिजन एंगेजमेंट प्‍लेटफॉर्म माईजीओवी के इनोवेट प्लेटफॉर्म पर लॉन्च किया गया था। प्रविष्टियां प्राप्‍त करने की अंतिम तिथि 26 जुलाई तक देशभर के टेक उद्यमियों और स्‍टार्टअप से 6,940 प्रविष्टियां प्राप्त हुईं। ऐप इनोवेशन चैलेंज के तहत 9 अलग-अलग श्रेणियों जैसे बिजनेस, ई-लर्निंग, एंटरटेनमेंट, गेम्स, हेल्थ, न्यूज, ऑफिस एंड वर्क फ्रॉम होम, अदर्स और सोशल के लिए प्रविष्टियां आंमंत्रित की गई थी। नीति आयोग के तहत अटल इनोवेशन मिशनने इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के डिजिटल इंडिया कॉरपोरेशन के तहत एमईआईटीवाई स्टार्टअप हब और नेशनल ई-गवर्नेंस डिवीजन के साथ-साथ इस चैलेंज के संचालन में माईजीओवी को काफी सहयोग और समर्थन किया।

      प्राप्त प्रविष्टियों की जांच विभिन्‍न टीमों द्वारा की गई और प्रत्येक श्रेणी में शीर्ष प्रविष्टियों का मूल्‍यांकन एक प्रतिष्ठित जूरी द्वारा किया गया जिसमें उद्योग, स्‍टार्टअप, शिक्षा एवं सरकार की ओर से विशेषज्ञ शामिल थे। जूरी के मूल्‍यांकन के बाद प्रविष्टियों को शॉर्टलिस्‍ट किया गया।

      31 जुलाई से 4 अगस्त तक 5 दिनों की अवधि में जूरी सदस्यों द्वारा व्यापक प्रस्तुतियां दी गईं जिन्होंने दमदार, व्‍यापकता, सुरक्षा और उपयोग में सुगमता जैसे मानदंडों पर सभी ऐप का आकलन किया। सभी श्रेणियों में दिलचस्‍प और इनोवेटिव ऐप प्राप्त किए गए और प्रस्तुतियों के बाद जूरी ने 24 ऐप को पुरस्कारों के लिए चयन किया। इसके अलावा 20 अन्‍य ऐप की पहचान स्पेशल मेंशन श्रेणी के लिए की गई जिनमें भविष्य के ऐप बनने की काफी संभावना है।जूरी ने यह भी उल्लेख किया कि ऐसे कई अन्य ऐप भी हैं जो विकास के विभिन्न चरणों में हैं और वे निकट भविष्य में पुरस्कार विजेता ऐप के साथ प्रतिस्पर्धा करेंगे। इस प्रकार ऐसा सुझाव दिया गया कि लीडर बोर्ड को लगातार अपडेट करने के लिए नियमित आधार पर ऐसी चुनौतियों का सामना करना होगासाथ ही अटल इनोवेशन मिशन के इनक्‍यूबेशन सेंटरों के जुड़कर संरक्षण के जरिये संस्‍थागत सहायता उपलब करानी चाहिए ताकि देश में ऐप निर्माण का माहौल तैयार में मदद की जा सके। भारत दुनिया का एक सबसे बड़ा ऐप प्रकाशक देश है। भारत में डेवलपर समुदाय के पास ऐसे ऐप बनाने की क्षमता है जो दुनिया में सर्वश्रेष्ठ हो सकते हैं। गौरतलब है कि ऐप डेवलपरों में कई महिलाएं भी थीं और उन्‍होंने लगभग पूरे देश का प्रतिनिधित्व किया। इस चुनौती ने साबित कर दिया है कि भारत के पास भविष्य के ऐप बनाने के लिए प्रतिभाओं का पर्याप्‍त आधार है।

 

      'आत्‍मनिर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज' की विभिन्‍न श्रेणियों में विजेताओं की सूची निम्नलिखित है:

 

विजेता

 

श्रेणी

श्रेणी में रैंक

ऐप का नाम

मनोरंजन

1

कैप्‍शनप्‍लस

मनोरंजन

2

मेमे चैट

मनोरंजन

3

एफटीसी टैलेंट

 

 

 

समाचार

1

लॉजिकली - चेक फेक न्‍यूज एंड वेरिफाई फैक्‍ट्स

समाचार

2

इजइक्‍वलटु - डेली न्‍यू, क्विज एंड जीके फॉर स्‍टूडेंट्स

 

 

 

खेल

1

हिटविकेटसुपरस्‍टार्स- 3डीक्रिकेट स्‍ट्रैटेजी गेम

खेल

2

स्‍कार फॉल: द रॉयल कॉम्‍बैट

खेल

3

वर्ल्‍ड क्रिकेटट चैम्पियनशिप 2 - डब्‍ल्‍यूसीसी2

 

 

 

कार्यालय

1

जोहो वर्कप्‍लेस एंड क्लिक

कार्यालय

2

स्योर एमडीएम

 

 

 

स्‍वास्‍थ्‍य

1

स्‍टेपसेटटगो (एसएसजी) - स्‍टेप अर्न रीडीम

स्‍वास्‍थ्‍य

2

आईमम्‍ज - वीक बाई वीक प्रेग्‍नेंसी प्रोग्राम

 

 

 

ई-लर्निंग

1

डिस्‍पर्ज

ई-लर्निंग

2

कुटुकी किड्स लर्निंग ऐप - योर प्रीस्‍कूल एट होम

ई-लर्निंग

3

हेलो इंग्लिश: लर्न इंग्लिश

 

 

 

कारोबार

1

जोहो इनवॉइस, बुक एंड एक्‍सपेंस

कारोबार

2

मॉल91 - अर्न बाई रेफर, सेव बाई शॉपिंग इन ग्रुप

कारोबार

3

जिमबुक्‍स- ईजी इनवॉइस मैनेजर

 

 

 

सामाजिक

1

चिंगारी - ओरिजनल इंडियन शॉर्ट वीडियो ऐप

सामाजिक

2

योरकोटइंडियाज लार्जेस्‍ट राइटिंग ऐप

सामाजिक

2

कू: फॉलो टॉप इंडियंस एंड न्‍यूज इन इंडियन लैंग्‍वेज

 

 

 

अन्‍य

1

मैपमाईइंडिया मूव: मैप्‍स, नेविगेशन एंड ट्रैकिंग

अन्‍य

2

आस्‍कसरकार

अन्‍य

3

माईइटरिटर्न

 

विजेताओं को निम्नलिखित पुरस्कार राशि दी जाएगी:

 

प्रथम पुरस्‍कार      20 लाख रुपये

द्वितीय पुरस्‍कार    15 लाख रुपये

तृतीय पुरस्‍कार            10लाख रुपये

 

विशेष उल्‍लेख

 

इसके अलावा जूरी ने विशेष उल्लेख के लिए निम्नलिखित ऐप को मान्यता दी है जो भविष्य में विजेता होने की क्षमता रखते हैं और तदनुसार ये ऐप विभिन्न श्रेणियों में लीडर बोर्ड का हिस्सा होंगे:

 

श्रेणी

ऐप का नाम

मनोरंजन

बूम

मनोरंजन

डॉकुबे

 

 

समाचार

लेट्सअप: लोकल ब्रेकिंग मराठी न्‍यूज, लाइव अपडेट्स

समाचार

पेपरबॉय: न्‍यूजपेपर, मैग्जिन

 

 

खेल

मैथ गेम्‍स, लर्न एड, सब्‍सट्रैक्‍ट, मल्‍टीप्‍लाई, डिवाइड

खेल

डंकी मास्‍टर: डंकी कार्ड गेम

खेल

काइट फ़लाई

 

 

कार्यालय

स्‍पार्क डॉट लाइव - वीडियो कनेक्‍ट विद एक्‍सपर्ट्स एवरीव्‍हेयर

कार्यालय

आईएमहेयर

कार्यालय

कागज स्‍कैनर

 

 

स्‍वास्‍थ्‍य

सस्‍ता सुंदर- जेन्‍यून मेडिसिन, पैथोलॉजी, डॉक्‍टर ऐप

स्‍वास्‍थ्‍य

ऑरम- बेस्‍ट थेरेपी, काउंसलिंग, एंग्‍जाइटी, स्‍ट्रेस

 

 

ई-लर्निंग

चॉकलिट

ई-लर्निंग

ईमेडिकोज

 

 

कारोबार

बूमर- बिल्‍ड अ वेबसाइट, वेबसाइट बिल्‍डर

कारोबार

लिंक माई बिजनेस

 

 

सामाजिक

हाईडॉक डॉक्‍टर- मेडिकल लर्निंग ऐप फॉर डॉक्‍टर्स

सामाजिक

मितरों

 

 

अन्‍य

एक्‍प्‍लोर अल कीबोर्ड - जीआईएफ, स्टिकर, स्‍मार्ट थीम्‍स

अन्‍य

लाइफ हैक्‍स

 

पुरस्कार जीतने वाले ऐप के लिएमाईजीओवी ने नागरिकों को अपने पसंदीदा ऐप के लिए वोटिंग करने के लिए माईजीओवीपर एक पोल भी लॉन्च किया है।

माईजीओवी ने ऐप इनोवेशन चैलेंज में सभी ऐप विजेताओं, ऐप स्पेशल मेंशन और सभी प्रतिभागियों को बधाई दी।

 

***.

एमजी/एएम/एसकेसी/एसएस



(Release ID: 1644338) Visitor Counter : 106


Read this release in: English , Manipuri , Tamil