वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय

भारत का विदेश व्यापार : मार्च, 2020

Posted On: 15 APR 2020 5:55PM by PIB Delhi

भारत से अप्रैल-मार्च 2019-20* में 528.45 अरब अमेरिकी डॉलर का समग्र निर्यात (वस्तुएं एवं सेवाएं) होने का अनुमान लगाया गया है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 1.36(-) प्रतिशत की नकारात्मक वृद्धि को दर्शाता है। उधर, अप्रैल-मार्च 2019-20* के दौरान 598.61 अरब अमेरिकी डॉलर का समग्र आयात होने का अनुमान लगाया गया है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 6.33 (-) प्रतिशत की ऋणात्मक वृद्धि को दर्शाता है।

Description: https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001Y4DE.png

* नोटः आरबीआई द्वारा जारी किया गया सेवा क्षेत्र से जुड़ा नवीनतम डेटा फरवरी 2020 से संबंधित है। मार्च 2020 से संबंधित डेटा सिर्फ एक आकलन है जिसमें आरबीआई की अगली प्रेस विज्ञप्ति के आधार पर संशोधन किया जाएगा।

 

1. वस्तुओं का व्यापार

निर्यात (पुनर्निर्यात सहित)

मार्च, 2020 में 21.41 अरब अमेरिकी डॉलर का निर्यात हुआ, वहीं मार्च 2019 में हुए 32.72 अरब अमेरिकी डॉलर के निर्यात की तुलना में 34.57 (-) प्रतिशत की नकारात्मक वृद्धि को दर्शाता है। रुपये के लिहाज से मार्च, 2020 में निर्यात 1,59,157.98 करोड़ रुपये का हुआ वहीं मार्च, 2019 में निर्यात 2,27,318.25 करोड़ रुपये का हुआ जो 29.98(-) प्रतिशत की नकारात्मक वृद्धि को दर्शाता है। निर्यात में गिरावट मुख्य रूप से चल रही वैश्विक मंदी के कारण हुई है, जो वर्तमान कोविड -19 संकट के कारण बढ़ गई। बाद में आपूर्ति श्रृंखलाओं और मांग में बड़े पैमाने पर व्यवधान उत्पन्न हुए जिसके परिणामस्वरूप आदेश रद्द हो गए।

लौह अयस्क को छोड़कर, जिसने 58.43% की वृद्धि दर्ज की, अन्य सभी जिन्सों / जिन्स समूहों के मूल्यों में मार्च 2020 में मार्च 2019 की तुलना में नकारात्मक वृद्धि दर्ज की है।

जिन मुख्य जिन्स समूहों के मूल्यों में मार्च 2020 में मार्च 2019 की तुलना में नकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई वो हैं- तेल युक्त भोजन (-69.85%), मांस, डेयरी और पोल्ट्री उत्पाद (-45.48%), इंजीनियरिंग सामान (-42.32%), रत्न और आभूषण (-41.05%), चमड़ा और चमड़े के उत्पाद (-36.78%), प्लास्टिक और लिनोलियम (-35.67%), सभी वस्त्रों का आरएमजी (-34.91%), कालीन (-34.72%), मीका, कोयला और अन्य अयस्कों, प्रसंस्कृत खनिजों सहित अन्य खनिज (-34.06%), चाय (-33.72%), अन्य अनाज ( -33.42%), कार्बनिक और अकार्बनिक रसायन (-32.88%), सूती धागा / कपड़े / बने हुए सामान, हैंडलूम उत्पाद आदि (-32.16%), पेट्रोलियम उत्पाद (-31.12%) और चावल (-28.28%)।

अप्रैल-मार्च 2019-20 की अवधि के लिए निर्यात का संचयी मूल्य 314.31 अरब डॉलर (22,26,566.71 करोड़ रूपए) रहा वहीं अप्रैल-मार्च 2018-19 में 330.08 अरब डॉलर (23,07,726.19 करोड़ रूपए) रहा, डॉलर के संदर्भ में (-) 4.78 प्रतिशत की नकारात्मक वृद्धि (रुपये के संदर्भ में नकारात्मक वृद्धि  (-)3.52प्रतिशत रहा) दर्ज किया गया।

मार्च 2020 में गैर-पेट्रोलियम और गैर-रत्न व जेवरात निर्यात 16.90 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ, वहीं मार्च 2019 में 25.68 अरब अमेरिकी डॉलर का रहा यानि तुलना में (-) 34.19 प्रतिशत की ऋणात्मक वृद्धि को दर्शाता है। अप्रैल- मार्च 2019-20 में गैर-पेट्रोलियम और गैर-रत्न व जेवरात निर्यात 235.73 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ, जो पिछले वित्तीय वर्ष की समान अवधि  में 243.27 अरब अमेरिकी डॉलर का रहा था, यानि पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में वर्तमान वित्तीय वर्ष में (-) 3.10 प्रतिशत की ऋणात्मक वृद्धि को रेखांकित करता है।

 

आयात

मार्च 2020 में 31.16 अरब अमेरिकी डॉलर (2,31,710.92 करोड़ रुपये) का आयात हुआ जो मार्च, 2019 में 43.72 अरब अमेरिकी डॉलर (3,03,753.76 करोड़ रुपये) के मुकाबले डॉलर के लिहाज से 28.72 प्रतिशत कम है और रुपये के लिहाज से भी 23.72 प्रतिशत कम है। अप्रैल-मार्च 2019-20 में कुल मिलाकर 467.19 अरब अमेरिकी डॉलर (33,07,977.05 करोड़ रुपये) का आयात हुआ, अप्रैल-मार्च 2018-19 में हुए आयात 514.08 अरब अमेरिकी डॉलर (35,94,674.61 करोड़ रुपये) रहा, दोनों वित्तीय वर्ष की तुलना में डॉलर के लिहाज से (-)9.12 प्रतिशत नकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई है और रुपये की दृष्टि से (-)7.98 प्रतिशत नकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई है।

मार्च, 2020 में जिन प्रमुख जिंस समूहों के आयात में पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में ऋणात्मक वृद्धि दर्ज की गई है उनमें निम्नलिखित शामिल हैं-

Description: https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002TSYW.png

मार्च 2020 में आयात में वृद्धि केवल परिवहन उपकरण में देखी गई, मार्च 2019 में 11.94 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की थी।

 

कच्चे तेल और गैर-तेल (पेट्रोलियम) का आयात:

मार्च 2020 में तेल का आयात 10.01 अरब अमेरिकी डॉलर (74,462.00 करोड़ रुपये) था, जो कि मार्च 2019 में 11.78 अरब अमेरिकी डॉलर (81,857.53 करोड़ रुपये) की तुलना में डॉलर के संदर्भ में 15.00 प्रतिशत कम (रुपये में 9.03 प्रतिशत कम) था। अप्रैल-मार्च 2019-20 में तेल का आयात 199.92 अरब अमेरिकी डॉलर (9,86,278.06 करोड़ रुपये) की तुलना में डॉलर के संदर्भ में (रुपये में 6.99 प्रतिशत कम) कम था, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में 129.43 अरब अमेरिकी डॉलर (9,17,306.25 करोड़ रुपये) का रहा था।

इस संबंध में यह उल्लेख किया गया है कि विश्व बैंक से उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार मार्च 2020 में मार्च 2019 क तुलना में वैश्विक ब्रेंट मूल्य ($ / bbl) 50.34% कम हो गया है।

मार्च 2020 में गैर-तेल (पेट्रोलियम) के आयात का अनुमान 21.15 अरब अमेरिकी डॉलर (1,57,248.92 करोड़ रुपये) था, जो कि मार्च 2019 में 31.94 अरब अमेरिकी डॉलर (2,21,896.23 करोड़ रुपये) की तुलना में डॉलर के संदर्भ में 33.78 प्रतिशत कम (रुपये में 29.13 प्रतिशत कम) था। अप्रैल-मार्च 2019-20 में गैर-तेल का आयात 337.76 अरब अमेरिकी डॉलर (23,90,670.80 करोड़ रुपये) था, जो कि अप्रैल-मार्च 2018-19 में 373.16 अरब अमेरिकी डॉलर (26,08,399.55 करोड़ रुपये) की तुलना में डॉलर के संदर्भ में 9.49 प्रतिशत कम (रुपये में 8.35 प्रतिशत कम) था।

मार्च 2020 में गैर-तेल (पेट्रोलियम) और गैर-रत्न व जेवरात आयात 19.92 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ, वहीं मार्च 2019 में 26.65 अरब अमेरिकी डॉलर का रहा यानि तुलना में (-) 30.47 प्रतिशत की ऋणात्मक वृद्धि को दर्शाता है। अप्रैल- मार्च 2019-20 में गैर-पेट्रोलियम और गैर-रत्न व जेवरात आयात 309.53 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ, जो पिछले वित्तीय वर्ष की समान अवधि  में 340.25 अरब अमेरिकी डॉलर का रहा था, यानि पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में वर्तमान वित्तीय वर्ष में (-) 9.03 प्रतिशत की ऋणात्मक वृद्धि को रेखांकित करता है।

 

II. सेवाओं का व्यापार

निर्यात (प्राप्तियां)

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा 15 अप्रैल, 2020 को जारी नवीनतम प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार फरवरी, 2020 में निर्यात 17.73 अरब अमेरिकी डॉलर (1,26,713.37 करोड़ रुपये) का हुआ, जो फरवरी 2019 की तुलना में डॉलर के लिहाज से 6.88 प्रतिशत की धनात्मक वृद्धि को दर्शाता है। मार्च 2020* में सेवाओं का निर्यात 17.69 अरब अमेरिकी डॉलर का होने का अनुमान लगाया गया है।

आयात (भुगतान)

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा 15 अप्रैल, 2020 को जारी नवीनतम प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार फरवरी, 2020 में आयात 11.07 अरब अमेरिकी डॉलर (79,116.32 करोड़ रुपये) का हुआ, जो फरवरी 2019 की तुलना में डॉलर के लिहाज से 12.82 प्रतिशत की धनात्मक वृद्धि को दर्शाता है। मार्च 2020* में सेवाओं का आयात 10.97 अरब अमेरिकी डॉलर का होने का अनुमान लगाया गया है।

 

III. व्यापार संतुलन

वस्तुएं: मार्च, 2020 में व्यापार घाटा 9.76 अरब अमेरिकी डॉलर रहने का अनुमान लगाया गया है, जबकि मार्च 2019 में यह व्यापार घाटा 11.00 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ था।

सेवाएं : आरबीआई द्वारा 15 अप्रैल, 2020 को जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार फरवरी 2020 के दौरान सेवाओं में व्यापार संतुलन (अर्थात शुद्ध सेवा निर्यात) 6.66 अरब अमेरिकी डॉलर रहने का अनुमान लगाया गया है।

समग्र व्यापार संतुलन : वस्तुओं एवं सेवाओं दोनों को ही मिलाने पर अप्रैल-मार्च 2019-20* में कुल मिलाकर 70.16 अरब अमेरिकी डॉलर का समग्र व्यापार घाटा होने का अनुमान लगाया गया है, जबकि अप्रैल-मार्च 2018-19 में व्यापार घाटा 103.32 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ था।

 

नोट: आरबीआई द्वारा जारी किया गया सेवा क्षेत्र से जुड़ा नवीनतम आंकड़ा फरवरी, 2020 से संबंधित है। मार्च, 2020 से संबंधित डेटा (आंकड़ा) सिर्फ एक आकलन है जिसमें आरबीआई की अगली प्रेस विज्ञप्ति के आधार पर संशोधन किया जाएगा।

 

विस्तृत जानकारी के लिए अंग्रेजी का अनुलग्नक यहां क्लिक करें

 

मार्च 2020 के लिए चयनित मुख्य वस्तुओं के लिए त्वरित आकलन (यहां क्लिक करें)

***

एएम/पीकेपी

 

 



(Release ID: 1614898) Visitor Counter : 1389


Read this release in: English , Tamil