विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • राष्ट्रपति सचिवालय
  • राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद का मंगोलिया के राष्ट्रपति के सम्मान में आयोजित भोज के अवसर पर संबोधन  
  • राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने मंगोलिया के राष्ट्रपति की मेजबानी की; कहा भारत और मंगोलिया न केवल 'सामरिक साझीदार' हैं, बल्कि अपनी साझा बौद्ध विरासत से जुड़े 'आध्यात्मिक पड़ोसी' भी हैं   
  • चुनाव आयोग
  • चुनाव आयोग ने हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा 2019 के लिए आम चुनावों की तिथियों की घोषणा की, इसके साथ ही साथ विभिन्न राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र और राज्य विधानसभाओं में आकस्मिक रिक्ति को भरने के लिए उपचुनावों की अनुसूची भी जारी की  
  • नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय
  • एमएनआरई ने पेससेटर फंड कार्यक्रम के दूसरे दौर में चार परियोजनाओं को पुरस्‍कृत किया  
  • मानव संसाधन विकास मंत्रालय
  • केन्‍द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने केन्‍द्रीय शिक्षा सलाहकार बोर्ड (सीएबीई) की विशेष बैठक की अध्‍यक्षता की   
  • रक्षा मंत्रालय
  • नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह 21 से 24 सितंबर, 2019 तक बांग्‍लादेश के दौर पर  

 
पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय13-सितम्बर, 2016 19:05 IST

ब्रिक्‍स पर्यावरण मंत्रियों की गोवा में बैठक होगी

ब्रिक्स देशों के पर्यावरण मंत्री आपसी सहयोग को मजबूत बनाने के लिए 16 सितंबर 2016 को गोवा में आयोजित होने वाली बैठक में शामिल होंगे। मेजबान देश के मंत्री होने के मद्देनजर पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री अनिल माधव दवे बैठक में भाग लेने के लिए कल गोवा जा रहे हैं। बैठक में समझौता ज्ञापन और पर्यावरण पर संयुक्त कार्य समूह पर चर्चा होने की उम्मीद है। ब्रिक्स मंत्रियों के बीच वायु और जल प्रदूषण, तरल और ठोस कचरा प्रबंधन, जलवायु परिवर्तन और जैव विविधता के संरक्षण जैसे आपसी हितों के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में सहयोग पर चर्चा होने और इस संदर्भ में प्राथमिकता से कार्यवाही किए जाने की उम्मीद हैं। इस बैठक से पूर्व सरकारी स्तर पर विचार-विमर्श किया जाएगा।

पिछले वर्ष हुई बैठक में विकास के लिए वित्‍तपोषण पर अदीस अबाबा कार्रवाई एजेंडा, सतत विकास लक्ष्य और पेरिस समझौते जैसे वैश्‍विक पर्यावरण समझौतों को अपनाने के बाद वर्तमान बैठक काफी अहमियत रखती है। यह बैठक विभिन्‍न केन्‍द्रीय मंत्रालयों द्वारा संचालित की जा रही बैठकों की श्रृंखला में से एक है और इस वर्ष रूस से ब्रिक्‍स की अध्‍यक्षता भारत द्वारा ग्रहण किए जाने के बाद ब्रिक्‍स देशों के प्रमुखों के अक्‍टूबर, 2016 में गोवा में होने वाले शिखर सम्‍मेलन की दृष्‍टि से भी अहम हैं। ब्रिक्स पर्यावरण मंत्रियों की बैठक का आयोजन भारत सरकार के पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है।

ब्रिक्स देशों में शामिल ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका वैश्विक आबादी के 41.6%, कुल दुनिया के क्षेत्रफल के 29.31% और विश्‍व के कुल सकल घरेलू उत्पाद में लगभग 22% की हिस्‍सेदारी रखते हैं। ये देश जैव विविधता और प्राकृतिक पूंजी से समृद्ध है। ब्रिक्स देशों द्वारा दिए गये विकल्‍पों का एक वैश्विक महत्व है।

***

एसएस/डीए
(Release ID 54095)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338