विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • इस्पात मंत्रालय
  • श्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने इस्पात उद्योग से अपनी रणनीति पर पुनर्विचार करने की अपील की  
  • खान मंत्रालय
  • श्री प्रह्लाद जोशी ने राष्‍ट्रीय भूविज्ञान पुरस्‍कार प्रदान किये;  
  • महिला और बाल विकास मंत्रालय
  • प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना एक करोड़ लाभार्थियों तक पहुंची  
  • रक्षा मंत्रालय
  • डीआरडीओ ने हवा से हवा में मार करने वाली ‘अस्त्र’ मिसाइल के पांच सफल परीक्षण किए  
  • रक्षामंत्री श्री राजनाथ सिंह ने स्‍वदेशी रक्षा प्रणाली विकास की सराहना की  
  • रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने आत्म-निर्भरता हासिल करने के लिए रक्षा में और अधिक अनुसंधान एवं विकास प्रयास करने का आह्वान किया  
  • युद्ध अभ्‍यास-2019 का समापन समारोह  
  • मझगांव डॉक शिप बिल्‍डर्स लिमिटेड से नौसेना के लिए तैयार होकर निकली स्‍कॉर्पीन श्रेणी की दूसरी पनडुब्‍बी-‘खंदेरी  
  • वायुसेना के उप प्रमुख आरकेएस भदौरिया अगले वायुसेना प्रमुख नियुक्‍त  
  • श्री राजनाथ सिंह हल्‍के लड़ाकू विमान ‘तेजस’ में उड़ान भरने वाले पहले रक्षामंत्री बने  
  • तीन देशों की नौसेनाओं आईए-आरएसएन-आरटीएन के युद्धाभ्यास का समुद्री चरण शुरू  
  • रेल मंत्रालय
  • रेल मंत्रालय ने भुवनेश्वर स्टेशन का बहु-मॉडल परिवहन केन्‍द्र के रूप में पुनर्विकास करने के लिए ओडिशा सरकार के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किये  
  • वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय
  • भारत और बेल्जियम-लग्‍जमबर्ग आर्थिक संघ के संयुक्‍त आर्थिक आयोग की 16वीं बैठक  
  • सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय
  • दिव्‍यांगता पर केन्‍द्रीय सलाहकार बोर्ड की तीसरी बैठक  
  • फाइनेंस कमीशन
  • 15वें वित्‍त आयोग का दल सिक्किम का दौरा करेगा  
  • मत्स्यपालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय
  • गिरिराज सिंह ने देश में मछली पालन के आकड़े जारी किए  

 
विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय05-जनवरी, 2016 20:25 IST

आईएनसीओआईएस हैदराबाद में क्रियाशील समुद्री विज्ञान के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय प्रशिक्षण केन्‍द्र की आधारशिला रखी गई

केन्‍द्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी तथा पृथ्‍वी विज्ञान राज्‍य मंत्री श्री वाई एस चौधरी ने कहा है कि सरकार क्रियाशील समुद्री विज्ञान को प्रोत्‍साहित करना चाहती है क्‍योंकि यह विज्ञान के लाभ को साधारण जन तक पहुंचाता है। श्री चौधरी आईएनसीओआईएस हैदराबाद में

केन्‍द्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी तथा पृथ्‍वी विज्ञान राज्‍य मंत्री श्री वाई एस चौधरी ने कहा है कि सरकार क्रियाशील समुद्री विज्ञान को प्रोत्‍साहित करना चाहती है क्‍योंकि यह विज्ञान के लाभ को साधारण जन तक पहुंचाता है। श्री चौधरी आईएनसीओआईएस हैदराबाद में क्रियाशील समुद्री विज्ञान के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय प्रशिक्षण केन्‍द्र की आधारशिला रख रहे थे। उन्‍होंने कहा कि ऐसे लाभ मछुआरों को सलाह देने , समुद्री स्थिति का पूर्वानुमान व्‍यक्‍त करने , सुनामी तथा तूफान संबंधी प्रारम्भिक चेतावनी देने में काम आते हैं। उन्‍होंने कहा कि ऐसी संचालन सेवाएं देने में ईएसएसओ-आईएनसीओआईएस अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं इसलिए भारत सरकार ने ईएसएसओ-आईएनसीओआईएस में आईटीसीओ ओशन स्थापित करने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने इसके लिए 5 वर्षों में 100 करोड़ से अधिक रुपये दिये हैं।

DSC02853-min

 

श्री चौधरी ने बताया कि अंतर्राष्‍ट्रीय प्रशिक्षण केन्‍द्र पृथ्‍वी विज्ञान मंत्रालय द्वारा स्‍थापित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार अंतर सरकारी समुद्री विज्ञान आयोग (आईओसी)/ संयुक्‍त राष्‍ट्र शैक्षिण, वैज्ञानिक तथा सांस्‍कृतिक संगठन (यूनेस्‍को) को उनके क्षमता सृजन प्रयास में सहायता देने के लिए वचनबद्ध है।

आईटीसीओ ओशन ने अब तक 22 देशों के 360 शोधकर्ताओं, विश्‍वविद्यालय के छात्रों, केन्‍द्र सरकार के अधिकारियों को प्रशिक्षित करने के लिए 6 अंतर्राष्‍ट्रीय और 7 राष्‍ट्रीय प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाये हैं। 

   

 

***

एजी/वीके-84

(Release ID 44060)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338