विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • राष्ट्रपति सचिवालय
  • राष्ट्रपति भवन ने केंद्रीय विश्वविद्यालयों/उच्च शिक्षा संस्थानों के प्रमुखों के सम्मेलन की मेजबानी की  
  • उप राष्ट्रपति सचिवालय
  • युवाओं को सरदार पटेल के योगदान और दृष्टिकोण (विजन) से अवगत कराया जाना चाहिए---उप-राष्ट्रपति  
  • प्रधानमंत्री कार्यालय
  • प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय गंगा परिषद की प्रथम बैठक की अध्यक्षता की  
  • उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय, खाद्य और सार्वजनिक वितरण
  • उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण राज्य मंत्री श्री रावसाहेब पाटील दानवे के नेृतत्‍व में एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर  
  • कोयला मंत्रालय
  • सीपीएसई को दो कोकिंग कोयला खदानों का आवंटन; प्रति वर्ष 10 मीट्रिक टन उत्पादन बढ़ाने का लक्ष्‍य  
  • गृह मंत्रालय
  • अंतरराष्‍ट्रीय मादक द्रव्‍य रैकेट का खुलासा; भारत में एनसीबी  ने 100 करोड़ रुपए मूल्‍य की सर्वाधिक 20 किलोग्राम कोकीन जब्‍त की  
  • रक्षा मंत्रालय
  • अभ्यास मित्र शक्ति-VII का समापन समारोह  
  • विद्युत मंत्रालय
  • श्री आर. के. सिंह ने 29 वें राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस का उद्घाटन किया और पुरस्कार प्रदान किए  
  • जल शक्ति मंत्रालय
  • द हिंदू में प्रकाशित जल शक्ति अभियान का तथ्यात्मक रूप से मूल्यांकन गलत  
  • प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय गंगा परिषद की प्रथम बैठक की अध्यक्षता की  

 
वित्त मंत्रालय06-नवंबर, 2015 20:18 IST

सरकार ने उन सभी सेवाओं पर 0.5 फीसदी स्‍वच्‍छ भारत उपकर लगाने का फैसला किया, जिन पर वर्तमान में सेवा कर अदा किया जाता है, 15 नवम्‍बर, 2015 से यह प्रभावी होगा : इस उपकर से प्राप्‍त राशि का उपयोग विशिष्‍ट रूप से स्‍वच्‍छ भारत पहल के लिए किया जाएगा

स्‍वच्‍छ भारत उपकर कोई एक और कर नहीं है, बल्कि स्‍वच्‍छ भारत में योगदान करने के लिए देश के प्रत्‍येक नागरिक को शामिल करने की दिशा में एक कदम है। इस दिशा में सरकार ने उन सभी सेवाओं पर 0.5 फीसदी स्‍वच्‍छ भारत उपकर लगाने का फैसला किया है, जिन पर वर्तमान में सेवा कर अदा किया जाता है। यह उपकर 15 नवम्‍बर, 2015 से प्रभावी होगा। इससे कर योग्‍य सेवाओं पर प्रत्‍येक सौ रुपये पर केवल 50 पैसे का कर बोझ बैठेगा। इस उपकर से प्राप्‍त राशि का उपयोग विशिष्‍ट रूप से स्‍वच्‍छ भारत पहल के लिए किया जाएगा।

आम बजट 2015-16 में स्‍वच्‍छ भारत पहल या उससे संबंधित किसी अन्‍य उद्देश्‍य के वित्‍त पोषण एवं उसे बढ़ावा देने के लिए सभी सेवाओं पर स्‍वच्‍छ भारत उपकर लगाने का एक प्रावधान किया गया था।

एसकेजे/वाईबी-5373
(Release ID 41814)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338