Print
XClose
पत्र सूचना कार्यालय
भारत सरकार
रक्षा मंत्रालय
11-फरवरी-2020 11:47 IST

      रियर एडमिरल संजय वात्स्यायन ने पूर्वी फ्लीट के कमांडर के रूप में पदभार संभाला

      रियर एडमिरल सूरज बेरी, एवीएसएम, एनएम, वीएसएम ने कल 10 फरवरी, 2020 को विशाखापत्तनम में एक भव्‍य समारोह में रियर एडमिरल संजय वात्स्यायन, एनएम को पूर्वी फ़्लीट की कमान सौंपी। पूर्वी फ्लीट में भारतीय नौसेना के अग्रणी युद्धपोत शामिल हैं, जिन्‍हें देश के समुद्री हितों की रक्षा के लिए भारत-प्रशांत क्षेत्र में तैनात किया गया है।

      रियर एडमिरल संजय वात्स्यायन प्रतिष्ठित राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला, रक्षा सेवा स्टाफ कॉलेज, वेलिंगटन, नौसेना युद्ध कॉलेज, मुंबई और राष्ट्रीय रक्षा कॉलेज, नई दिल्ली के पूर्व छात्र हैं। एडमिरल वात्‍स्‍यायन एक गनरी और मिसाइल सिस्टम विशेषज्ञ हैं। उनके पास  समुद्र और समुद्र तट के बारे में व्‍यापक अनुभव है। उन्होंने विभूति और नशाक नामक मिसाइल जहाजों, निर्देशित मिसाइल कोरवेट कुथार की कमान संभाली और स्वदेश निर्मित अत्याधुनिक स्टील्थ फ्रिगेट सह्याद्रि के कमीशनिंग ऑफिसर भी रहे।

      रियर एडमिरल संजय वात्स्यायन रक्षा मंत्रालय (नौसेना) के एकीकृत मुख्यालय में कार्मिक नीति और नौसेना योजनाओं से संबंधित महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं। पूर्वी फ़्लीट की कमान संभालने से पहले, वे नई दिल्ली में नौसेना (नीति और योजना) के सहायक प्रमुख के रूप में सेवारत थे।

      रियर एडमिरल सूरज बेरी की कमान के तहत, पूर्वी फ्लीट ने पिछले एक साल में युद्ध की तैयारी और परिचालन गति को त्‍वरित बनाए रखा है। रियर एडमिरल सूरज बेरी जल्द ही अंडमान और निकोबार कमान की तीनों सेनाओं के प्रमुख के रूप में कार्यभार संभालेंगे।

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/Rear_Adm_Sanjay_Vatsayan_reviewing_the_Guard_of_Honour_during_Change_of_Command_DivisionsJZ70.JPG

 

एस.शुक्‍ला/एसकेएस/एसके – 5677