Print
XClose
पत्र सूचना कार्यालय
भारत सरकार
नीति आयोग
17-जनवरी-2020 17:09 IST

नीति आयोग और केन्‍द्र शासित प्रदेश लद्दाख के मध्‍य बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के विकास के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर

नवगठित केन्‍द्र शासित प्रदेश लद्दाख में प्रमुख बुनियादी ढांचा क्षेत्रों के विकास को बढ़ावा देने के लिए एक महत्‍वपूर्ण पहल के रूप में नीति आयोग ने आज इस केन्‍द्र शासित प्रदेश के प्रशासन के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्‍ताक्षर किये। इस समझौता ज्ञापन के तहत नीति आयोग अपनी प्रमुख पहल ‘बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के लिए राज्‍यों को विकास सहायता सेवाएं’ (डी3एस-i) के माध्‍यम से इस केन्‍द्र शासित प्रदेश के प्रशासन की मदद करेगा।

इस समझौता ज्ञापन का निष्‍पादन नीति आयोग के सीईओ श्री अमिताभ कांत और संयुक्‍त सचिव एम.सी. जौहरी की उपस्थिति में हुआ। इसपर नीति आयोग के वरिष्‍ठ सलाहकार डॉ. योगेश सूरी तथा लद्दाख के उपराज्‍यपाल के सलाहकार श्री उमंग नरूला ने हस्‍ताक्षर किये। 

इस साझेदारी में उच्च प्रभाव वाली प्राथमिकता परियोजनाओं की पहचान करने, परियोजना के कार्यान्वयन में तेजी लाने, संरचनात्मक स्तर मुद्दों का निपटान करने और केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के लिए विकास के विशिष्‍ट मॉडलों का सृजन करने पर जोर दिया जायेगा। नीति आयोग प्राथमिकता प्राप्त बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की पहचान करने के लिए एक रणनीति का सृजन करने में केन्‍द्र शासित प्रदेश की मदद करने तथा पहचान की गई परियोजनाओं के लिए समस्‍त लेनदेन प्रबंधन सहायता उपलब्‍ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। केन्‍द्र शासित प्रदेश में विशेष रूप से पर्यटन, सौर ऊर्जा और बुनियादी ढांचे के क्षेत्र में परियोजनाओं की पहचान और विकास के लिए पेशेवरों की एक समर्पित टीम लद्दाख में तैनात होने की उम्मीद है।

***

आरकेमीणा/आरएनएम/आईपीएस/एसएस-5337