पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय

श्री भूपेंद्र यादव ने बांदीपोरा का भ्रमण किया, कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया

‘सबका साथ सबका विकास’ सिर्फ एक नारा नहीं, बल्कि एक मिशन है: श्री भूपेंद्र यादव

श्री भूपेंद्र यादव ने वुलर झील के आसपास चल रहे कार्यों की स्थिति का जायजा लिया, सभी से भारत में ताजे पानी की सबसे बड़ी झील को अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन मानचित्र पर लाने का अनुरोध किया

Posted On: 08 OCT 2021 8:24PM by PIB Delhi

केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन, श्रम और रोजगार मंत्री श्री भूपेंद्र यादव ने शुक्रवार को केंद्र सरकार के जनसंपर्क कार्यक्रम के तहत बांदीपोरा जिले का भ्रमण किया।

केन्द्रीय मंत्री ने जन प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात के अलावा जीर्णोद्धार और संरक्षण कार्यों का निरीक्षण किया, कई विकास परियोजनाओं का ई-शुभारम्भ और शिलान्यास किया।

केन्द्रीय मंत्री ने सुम्बल में हिलालाबाद नेस्बल में 3 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले एक सार्वजनिक पार्क का शिलान्यास किया।

उन्होंने आरामपोरा बांदीपोरा में एक फिल्ट्रेशन प्लांट का भी शुभारम्भ किया, जिसे 1.53 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है और इससे लगभग 79 हजार की आबादी को फायदा होगा।

श्री भूपेंद्र यादव ने बैक टू विलेज कार्यक्रम, मनरेगा और 14वें वित्त आयोग के तहत 2.62 करोड़ रुपये की लागत से बांदीपोरा जिले में सड़कों, टाइल मार्ग और पुलिया के द्वारा ग्रामीण सड़क संपर्क के विकास का भी शुभारम्भ किया।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001QCBI.jpg

 

केंद्रीय मंत्री ने भौतिक और वित्तीय उपलब्धियों के साथ वुलर झील में हो रहे कार्यों की स्थिति, वुलर झील के आसपास ड्रेजिंग और पर्यटन इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास की प्रगति का भी जायजा लिया।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002XD15.jpg

 

श्री यादव ने कहा कि मछली के सबसे बड़े उत्पादन के स्रोत के अलावा वुलर झील में पर्यटन के लिए भारी संभावनाएं हैं और अगर इसका समुचित उपयोग होता है तो इससे स्थानीय आबादी की सामाजिक आर्थिक स्थिति में बदलाव हो सकता है।

केन्द्रीय मंत्री ने बताया कि सरकार द्वारा झील के संरक्षण और प्रबंधन के लिए 200 करोड़ रुपये की वुलर कार्य योजना को मंजूरी मिलने के बाद वुलर संरक्षण परियोजना के तहत व्यापक स्तर पर काम शुरू किया गया है। उन्होंने कैचमेंट प्रकृति, संरक्षण कार्यों, जैव-विविधता संरक्षण और इको-पर्यटन के विकास के अलावा बुलेवार्ड रोडके निर्माण और अन्य पर्यटनस्थलों के बारे में भी जानकारी दी।

श्री भूपेंद्र यादव ने झील के संरक्षण और जिले में पर्यटन क्षेत्र के विकास पर केंद्र शासित सरकार और जिला प्रशासन द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की और अधिकारियों से अतिरिक्त उत्साह के साथ काम करने का अनुरोध किया, जिससे वुलर झील को अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन मानचित्र पर लाया जा सके।

इस अवसर पर वूलर झील और झील के आसपास जारी परियोजनाओं जिसके हिस्सों पर डब्ल्यूयूसीएमए काम कर रहा है, उनके बारे में एक लघु वीडियो भी दिखाया गया।

श्री भूपेंद्र यादव ने स्वच्छता अभियान में भी भाग लिया और आजादी का अमृत महोत्सव के तहत वुलर स्वच्छता अभियान की शुरुआत की। साथ ही उन्होंने वूलर मित्रों के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लिया, जिन्होंने जल स्रोतों और झीलों के संरक्षण व ठोस और तरल कचरे का उचित निस्तारण सुनिश्चित करने का संकल्प लिया। प्रधानमंत्री के वन्यजीव सप्ताह मनाने से संबंधित संदेश को भी कार्यक्रम के दौरान पढ़ा गया।

इस अवसर पर, विभिन्न विभागों द्वारा वुलर विंटेज पार्क में कई स्टॉल लगाए गए, जिसमें अपनी कला और गतिविधियों का प्रदर्शन किया गया। केंद्रीय मंत्री ने सभी स्टॉल्स का निरीक्षण किया और इन स्टॉलों पर मौजूद कर्मचारियों व आगंतुकों के साथ संवाद किया।

श्री भूपेंद्र यादव ने जल स्रोतों की स्वच्छता के लिए मोहम्मद रफीक वानी, पौधारोपण अभियान के लिए मुबाशिर जाविद, बचावकर्ता व मोटर बोट शिकारा विशेषज्ञ सुहैल तारिक डार और कोविड शमन प्रयासों के दौरान निरंतर काम कर रहे एक कर्मचारी मंजूर अहमद सहित कई छात्रों व स्वयंसेवकों को सम्मानित किया।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image003OS44.jpg

 

श्री यादव ने एक बुकलेट पिक्टोरियल गाइड टू बर्ड्स ऑफ वुलर का भी विमोचन किया, जिससे पर्यटकों को अन्य जानकारियों के अलावा झील में मौजूद प्रवासी पक्षियों के बारे में जानकारी मिलेगी।

श्री भूपेंद्र यादव ने वुलर झील के आसपास रह रहे स्थानीय लोगों को सौर लाइट, अनाथों के बीच स्कूल किट और समावेशी शैक्षणिक किट का भी वितरण किया।

इसके बाद, डीडीसी चेयरमैन अब्दु गनी, डॉ. गुलाम मुस्तफा खान और अन्य सहित जिला विकास परिषद के सदस्य, बीडीसी अध्यक्ष, सरपंच और अन्य पीआरआई सदस्यों ने केंद्रीय मंत्री से मुलाकात की और विभिन्न मुद्दों के बारे में उन्हें अवगत कराया, साथ ही इन मुद्दों के समाधान के लिए उनसे हस्तक्षेप की मांग की।

श्री भूपेंद्र यादव ने धैर्य के साथ सभी प्रतिनिधिमंडलों और लोगों की बात सुनी और उनकी शिकायतों के संबंध में सरकार की तरफ से सकारात्मक प्रतिक्रिया का भरोसा दिलाया।

प्रधानमंत्री के विजन को साझा करते हुए, श्री यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा दिया गया सबका साथ सपका विकास सिर्फ एक नारा नहीं है, बल्कि यह एक मिशन है जो समाज के कमजोर तबकों की सामाजिक आर्थिक स्थिति में व्यापक बदलाव सुनिश्चित करेगा। उन्होंने कहा कि वंचित तबकों को विशेष मदद से लोगों का जीवन बेहतर होगाय़

उन्होंने कहा,प्रधानमंत्री चाहते हैं कि उनके मंत्री जमीनी हालात का आकलन करें और जनता की राय लेकर यह सुनिश्चित करें कि लोगों का जीवन सहज हो और उनके लिए सकारात्मक बदलाव आ सके।

केंद्रीय मंत्री के साथ पर्यावरण, वन, जलवायु परिवर्तन मंत्रालय में सचिव श्री रामेश्वर प्रसाद गुप्ता, जिला विकास परिषद के चेयरमैन अब्दुल गनी भट, पर्यावरण, वन, जलवायु परिवर्तन मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव रवि अग्रवाल, वन आयुक्त सचिव संजीव वर्मा, पीसीसीएफ डॉ. मोहित गिरि, उपायुक्त बांदीपोरा डॉ. उवैस अहमद, अतिरिक्त जिला विकास आयुक्त अली अफसर खान, अतिरिक्त उपायुक्त जहूर अहमद मीर और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे।

***

 

एमजी/एएम/एसएस



(Release ID: 1764480) Visitor Counter : 38


Read this release in: English , Urdu