महिला एवं बाल विकास मंत्रालय

महिला और बाल विकास मंत्रालय ने आज राजधानी में राष्ट्री य बालिका दिवस मनाया

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ सरकार के सबसे सफल कार्यक्रमों में से एक : श्रीमती मेनका संजय गांधी

Posted On: 24 JAN 2019 5:36PM by PIB Delhi

महिला और बाल विकास मंत्रालय ने आज (24 जनवरी, 2019) प्रवासी भारतीय केन्‍द्र, चाणक्‍यपुरी, नई दिल्‍ली में राष्‍ट्रीय बालिका दिवस मनाया। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ (बीबीबीपी) योजना की वर्षगांठ पर इस समारोह का आयोजन किया गया। राष्‍ट्रीय बालिका दिवस की विषय वस्‍तु है उज्‍जवल कल के लिए बालिका का सशक्तिकरण। इसका आयोजन गिरते शिशु लिंग अनुपात के विषय में जागरूकता पैदा करने और बालिका की कदर के लिए आसपास सकारात्‍मक माहौल बनाने के उद्देश्‍य से किया गया। केन्‍द्रीय महिला और बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका संजय गांधी इस कार्यक्रम में मुख्‍य अतिथि और राज्‍य मंत्री डा. वीरेन्‍द्र कुमार सम्‍मानित अतिथि थे। कार्यक्रम में अन्‍य गणमान्‍य व्‍यक्तियों के अलावा हरियाणा की महिला और बाल विकास मंत्री सुश्री कविता जैन भी मौजूद थीं।

 

इस अवसर पर विजेता राज्‍यों और जिलों को बधाई देते हुए, श्रीमती मेनका संजय गांधी ने कहा कि पिछले चार वर्षों में, मंत्रालय बालिकाओं के प्रति लोगों की सोच बदलने में कामयाब रहा है। सरकार द्वारा बालिकाओं पर केन्द्रित उपायों की एक-एक करके जानकारी देते हुए, उन्‍होंने कहा कि राज्‍यों और केन्‍द्र के मिले-जुले प्रयासों से मंत्रालय वन स्‍टॉप सेंटर, पैनिक बटन, एनआरआई विवाहों के पासपोर्ट रद्द करने, कार्य स्‍थल पर महिलाओं का यौन उत्‍पीड़न रोकने आदि से जुड़े उपाय करने में सफल रहा है। उन्‍होंने इसे संभव बनाने के लिए सभी साझीदारों के प्रयासों के लिए उन्‍हें धन्‍यवाद दिया। श्रीमती मेनका गांधी ने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ सरकार के सबसे सफल कार्यक्रमों में से एक है।

महिला और बाल विकास मंत्रालय में सचिव, श्री राकेश श्रीवास्‍तव ने बीबीबीपी के अंतर्गत प्राप्‍त उपलब्धियों और बालिकाओं के चौतरफा विकास के लिए उठाए जा रहे कदमों की जानकारी दी।

इस अवसर पर एक पुस्तिका बीबीबीपी के अंतर्गत नवपरिवर्तनभी जारी की गई। मंत्रालय ने देश भर के जिलों से 38 नवप्रवर्तक क्रियाकलापों को संकलित किया है ताकि अन्‍य जिलों के लिए उदाहरण प्रस्‍तुत किया जा सके। इस तरह की सहभागिता को पांच विषय वस्‍तुओं के अनुसार वर्गीकृत किया गया है, जो हैं उत्‍तरजीविता, संरक्षण,  शिक्षा, भागीदारी और लड़कियों की कदर

कार्यक्रम के दौरान राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों और जिलों द्वारा शुरू की गई विभिन्‍न गतिविधियों के बारे में एक स्‍लाइड शो हुआ। पूर्वोत्‍तर की एक गायक मंडली ने एक गीत प्रस्‍तुत किया। एनजीसीडी की विषय वस्‍तु के अनुसार तीन स्‍थानीय चैम्पियनों (वोखा जिला, नगालैंड, फिरोजपुर जिला, पंजाब और तमिलनाडु का तिरूवन्‍नमलई जिला) ने अनुभव बांटे और बताया कि किस प्रकार वे अन्‍य को प्रेरित कर रहे हैं। हरियाणा की महिला और बाल विकास मंत्री श्रीमती कविता जैन और राष्‍ट्रीय महिला आयोग की अध्‍यक्ष श्रीमती रेखा शर्मा ने भी एकत्र जनसमूह को संबोधित किया। केन्‍द्रीय विद्यालय आईएनए कालोनी; कान्‍वेन्‍ट ऑफ जीसस एंड मैरी, बंगला साहिब मार्ग; एयर फोर्स सीनीयर सैकंडरी स्‍कूल, रेस कोर्स; डीपीएस, पुलिस स्‍टेशन राम कृष्‍ण पुरम और संस्‍कृति स्‍कूल, डा. एस. राधाकृष्‍णन मार्ग, चाणक्‍यपुरी नई दिल्‍ली के स्‍कूली छात्रों ने बड़ी संख्‍या में भाग लिया।

इस अवसर पर अनुकरणीय प्रदर्शन के लिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ (बीबीबीपी) के अंतर्गत 5 राज्‍यों और 25 जिलों को बधाई दी गई। निम्‍नलिखित राज्‍यों/जिलों को नीचे दी गई श्रेणियों के अंतर्गत बधाई दी गई :-  

राज्‍य :

क्र.सं

श्रेणी

राज्‍य का नाम

1.

पूर्व और पूर्वोत्‍तर क्षेत्र

नगालैंड

2.

पश्चिमी क्षेत्र

राजस्‍थान

 

3.

उत्‍तरी क्षेत्र

हरियाणा

 

4.

दक्षिणी क्षेत्र

तमिलनाडु

 

5.

मध्‍य क्षेत्र

मध्‍य प्रदेश

 

कुल

5

 

  1. जिले:

क्र.सं

श्रेणी

जिले का नाम

1.

प्रभावी सामुदायिक कार्य- (16)

  • i. , छत्‍तीसगढ़

ii. सेनापति, मणिपुर

iii. कामरूप महानगर, असम

  • iv. , नगालैंड

v. होशंगाबाद, मध्‍य प्रदेश

vi. पुलवामा, जम्‍मू और कश्‍मीर

  1. करनाल, हरियाणा

viii. फिरोजपुर, पंजाब

  • ix. , झारखंड
  • x. ,तमिलनाडु
  • xi. ,उत्‍तराखंड

xii. नैल्‍लोर, आंध्र प्रदेश

xiii. फिरोजाबाद, उत्‍तर प्रदेश

xiv. गडग, कर्नाटक

xv. मंडी, हिमाचल प्रदेश

xvi. करीमनगर, तेलंगाना

2.

गर्भाधान पूर्व और जन्‍म से पूर्व  नैदानिक तकनीक कानून (पीसीऔर पीएनडीटी कानून)-(2) को अमल में लाना

i. झुंझनू, राजस्‍थान

ii. कुरूक्षेत्र, हरियाणा

3.

बालिका शिक्षा का अधिकार देना- (7)

  • i. , बिहार

ii बांदीपुरा, जम्‍मू और कश्‍मीर

iii. दीव, दमन और दीव

iv. झज्‍जर, हरियाणा

v. हनुमानगढ़, राजस्‍थान

vi. उत्‍तर पश्चिम, दिल्‍ली

vii. गांधीनगर, गुजरात

कुल

25

 

इसका समापन पेशेवर नृत्‍य नाटिका समूह द्वारा प्रस्‍तुत सांस्‍कृतिक कार्यक्रम के साथ हुआ।

 

*****

आर के मीणा/अर्चना/केपी



(Release ID: 1561803) Visitor Counter : 72


Read this release in: English