प्रधानमंत्री कार्यालय

किर्गिस्तान की यात्रा के दौरान प्रधान मंत्री का प्रेस वक्तव्य (जून 14, 2019)

Posted On: 14 JUN 2019 10:02PM by PIB Delhi

Your Excellency, Kyrgyz Republic के राष्ट्रपति और मेरे मित्र Mr. सुरोन्बाय जीन्बेकोव,

Ladies and gentlemen,


मेरे प्रतिनिधिमंडल और मेरे गर्मजोशी से सत्कार के लिए, मैं राष्ट्रपति जीन्बेकोव का आभार व्यक्त करता हूं। मैं Kyrgyzstan को लगभग पिछले 30 वर्ष की अभूतपूर्व उपलब्धियों पर बधाई देता हूं। अपनी प्राकृतिक सुंदरता, मजबूत लोकतंत्र और प्रतिभासंपन्न लोगों की वजह से इस देश का भविष्य उज्वल है। भारत के लोगों के प्रति Kyrgyz लोगों की दोस्ती और प्रेम ह्रदय को छू लेने है। अपने पिछले प्रवास में और इस बार भी मैंने यहां बिल्कुल घर जैसा अपनापन महसूस किया है।


Excellency,
 

मैं, आपको SCO समिट की सफल अध्यक्षता पर शुभकामनाएं देता हूं। आपकी अध्यक्षता में, क्षेत्रीय सहयोग को और बेहतर बनाने में SCO ने अनेक कदम उठाएं हैं। पिछले महीने नई दिल्ली में, मेरे शपथ ग्रहण समारोह को आपने सुशोभित किया। मैं आपका बहुत आभारी हूं। मुझे इस बात की भी खुशी है कि आज आप के साथ अपने द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा करने का अवसर प्राप्त हुआ। भारत और Kyrgyz Republic दोनों ही आपसी संबंधों को बहुत अधिक महत्व देते हैं।


Friends,

आज मेरी राष्ट्रपति जीन्बेकोव के साथ अनेक मुद्दों पर व्यापक चर्चा हुई। हम दोनों ही अनुभव करते हैं कि हमारे बीच सहयोग की अपार संभावनाएं हैं। आज हमने अपने द्विपक्षीय सबंधों को strategic partnership के स्तर पर ले जाने का निर्णय लिया है। इससे हमें अपनी साझेदारी के प्रत्येक क्षेत्र में दीर्घकालिक सहयोग करने में मदद मिलेगी।

Friends,

दो प्राचीन और गौरवशाली सभ्यताओं के रूप में, हम एक-दूसरे से स्वभाविक रूप से जुड़े हुए हैं। भारत और मध्य एशिया के गहरे ऐतिहासिक और सांस्कृतिक संबंध रहे हैं। भारत और Kyrgyz Republic महाकाव्यों की भूमि है। उदाहरण के लिए भारत में महाभारत और रामचरित मानस और Kyrgyz Republic में मानस। हम दोनों देश लोकतंत्र हैं और विविधता से भरे हैं।

हमारे प्राचीन संबंधों और शांति को बढ़ाने की हमारी साझी भावना ने हमें अपने संबंधों को और अधिक मजबूत करने की प्रेरणा दी। इससे हमारे राजनैयिक संबंधों में भी विस्तार हुआ है। द्विपक्षीय और बहुपक्षीय मुद्दों के विभिन्न क्षेत्रों पर, भारत और Kyrgyz Republic नियमित रूप से एक-दूसरे के साथ घनिष्ठता से परामर्श करते हैं। बहुत सारे अंतरराष्ट्रीय विषयों पर हम समान दृष्टिकोण रखते हैं। United Nations और दूसरे अंतर्राष्ट्रीय पटलों पर, हमारा सहयोग सुदृढ़ है। सैन्य प्रशिक्षण, संयुक्त युद्ध अभ्यास, field research और military technical क्षेत्रों में हमारा रक्षा सहयोग बढ़ा है। दोनों देशों ने रक्षा सहयोग पर Joint Working Group के गठन का निर्णय लिया है। हमारे बीच आर्थिक सहयोग की अपार संभावनाएं हैं। दोनों देश मिलकर इनका फायदा उठा सकते हैं।


Friends,
 

आज हमारे बीच द्विपक्षीय निवेश संधि और Double Taxation Avoidance समझैाते (DTAA) हुए हैं। हम दोनों देश व्यापार और आर्थिक सहयोग के क्षेत्र में पांच साल के रोड मैप पर भी सहमत हुए हैं। राष्ट्रपतिजी और मैंने B2B सहयोग को बढ़ाने में लिए, आज India-Kyrgyz Business Forum का संयुक्त रूप से शुभारंभ किया है। इस साल Bishkek में ‘नमस्कार यूरेशया’ भारतीय trade show का आयोजन भी किया जायेगा। मैं भारतीय कंपनियों से जोर देकर कहता हूं कि वे Kyrgyz Republic में निर्माण, रेलवे, हाइड्रो पावर, माइनिंग और इसके जैसे अन्य क्षेत्र के अवसरों का अध्ययन करें।


Friends,

Kyrgyz Republic की विकास जरूरतों को पूरा करने के लिए, आज मुझे 200 मिलियन डॉलर की रियायती Line of Credit की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है। मैं आशा करता हूं कि भारत के सहयोग से Kyrgyz Republic में बहुत-सी संयुक्त आर्थिक गतिविधियों को शुरू करने में सहायता मिलेगी। भारत और Kyrgyz Republic तथा मध्य एशिया के बड़े भूभाग पर बेहतर कनेक्टिविटी से दोनों तरफ के लोगोंके बीच व्यापार, निवेश और people-to-people contacts को बढ़ावा मिलेगा।


Friends,
भारत और Kyrgyz Republic ने जनवरी में उज्बेकिस्तान के समरकंद में आयोजित विदेश मंत्रियों के स्तर की First India-Central Asia Dialogue में सक्रियता से भागीदारी की। हमारे साझा क्षेत्र में समृद्धि, शांति और स्थिरता के लिए हमारा साझा दृष्टिकोण भी है।

Excellency,

भारत और Kyrgyz Republic जैसे लोकतान्त्रिक और विविधता भरे समाजों को आज आतंकवाद से सबसे बड़ा खतरा है। हम आतंकवाद और कट्टरवाद के समाधान के लिए एकजुट हैं। आतंकवाद के प्रायोजकों को जवाबदेह ठहराना होगा। पूरी दुनिया को यह संदेश देने की जरूरत है कि आतंकवाद को किसी भी तरीके से उचित नहीं माना जा सकता।


Friends,

बिश्केक में India-Kyrgyz Joint Textiles Exhibition का शुभारम्भ किया गया है। प्रदर्शनी को उत्साह से देखने वाले लोगों को आश्चर्य हुआ होगा कि भारत और Kyrgyz textile परंपराओं के बीच कितनी समानता है। भारत और Kyrgyz Republic mountain इकोलॉजी, ग्रीन टूरिज्म और स्नो लेपर्ड के संरक्षण जैसे विषयों पर भी सहयोग करेंगे। हमारे लोगों के बीच people-to-people मैत्री और सांस्कृतिक घनिष्ठता सबसे बड़ी संपत्ति है। मैं चाहता हूं कि इसे संजोया जाए। इसके लिए भी अनेक कदम उठाए गए हैं।


मुझे घोषणा करते हुए प्रसन्नता है कि वर्ष 2021 को Kyrgyz Republic और भारत के बीच सांस्कृतिक और मैत्री के वर्ष के रूप में मनाने पर हम सहमत हुए हैं। एक बार फिर से राष्ट्रपतिजी, आपका धन्यवाद करता हूं। इस अवसर पर मैं आपको भारत आने का निमंत्रण देता हूं। आपका भारत में स्वागत करना हमारे लिए बड़े सम्मान की बात होगी।

धन्यवाद।

****

AKT/KP



(Release ID: 1574683) Visitor Counter : 360