नीति आयोग

नीति आयोग ने मूव हैक का शुभारंभ किया

Posted On: 02 AUG 2018 2:18PM by PIB Delhi

  नीति आयोग ने भारत में गतिशीलता के भविष्य के उद्देश्य से वैश्विक गतिशीलता हैकथॉन-मूव हैक का शुभारंभ किया है। यह विश्व स्तर पर सबसे बड़े हैकथॉन में से एक होगा।  मूव हैक में दस विषयों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा और ऑनलाइन, सिंगापुर और नई दिल्ली में अंतिम रूप से संचालित होगा।

   21 वीं शताब्दी के नवाचार और आर्थिक विकास के संभावित चालकों के रूप में परिवहन और गतिशीलता उभर कर सामने आई है। गतिशीलता सेवाओं को वितरित करने के लिए तेजी से विकसित हो रही प्रौद्योगिकियों और व्यावसायिक मॉडल में वैश्विक परिवहन क्षेत्र को बदलने की क्षमता है। पैदल यात्री और व्यक्तिगत परिवहन से सार्वजनिक परिवहन और माल ढुलाई तक की गतिशीलता अत्यंत महत्वपूर्ण है और यह ग्रामीण और शहरी दैनिक जीवन को प्रभावित करती है

   मूवहैक का उद्देश्य गतिशीलता से संबंधित समस्याओं के लिए अभिनव, गतिशील और मापनीय समाधान लाना है। हैकथॉन दो-स्तरीय "जस्ट कोड इट": प्रौद्योगिकी/उत्पाद/सॉफ्टवेयर और डेटा विश्लेषण में, नवाचारों के माध्यम से समाधान और "जस्ट साल्व इट":अभिनव व्यावसायिक विचार या टिकाऊ समाधान प्रौद्योगिकी के माध्यम से गतिशीलता बुनियादी ढांचे को बदलना पर संचालित किया जाएगा।  

  मूव हैक सभी देशो के नागरिको के लिए खुला है। इसके लिए पंजीकरण Https://www.movehack.gov.in पर किया जा सकता है। ऑनलाइन आवेदन के शीर्ष तीस दल सिंगापुर की 1 और 2 सितंबर 2018 को यात्रा करेंगे, और इन्हे शीर्ष विशेषज्ञों के एक क्यूरेटेड समूह द्वारा सलाह दी जाएगी। इसमे दलों को आकृति सुधार, व्यापार व्यवहार्यता, तकनीकी समाधान और ग्राहक लक्ष्यीकरण/विपणन  सहित कई मापदंडों पर सलाह दी जाएगी। 5 और 6 सितंबर 2018 को नई दिल्ली में आयोजित अंतिम दौर में सिंगापुर चरण के शीर्ष 20 दल  भाग लेंगे।

नीति आयोग द्वारा 7 और 8 सितंबर 2018  को  आयोजित मूव शिखर सम्मेलन 2018 में विजेताओं की घोषणा की जाएगी और इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र करेंगे। हैकथॉन के लिए शीर्ष 10 विजेताओं को चुना जाएगा और इसमें 2 करोड़ से अधिक की पुरस्कार राशि प्रदान की जाएगी।

हैकथॉन सिंगापुर सरकार के साथ संयुक्त रूप से आयोजित किया जाएगा है और इसका संचालन हैकर अर्थ द्वारा किया जाएगा। कार्यक्रम में पीडब्ल्यूसी ज्ञान भागीदार  और नेस्काम रणनीतिक साझेदार है। इसका मूल्यांकन एक जूरी द्वारा किया जाएगा जिसमें विषय विशेषज्ञ विशेषज्ञ, उद्यम पूंजीपति, व्यापारिक नेता और सफल उद्यमी शामिल होंगे। चैंपियंस फॉर मूव हैक के रूप में सेवा करने के लिए सहमत होने वाले उल्लेखनीय नेताओं में सुश्री देबानी घोष (अध्यक्ष, नेस्काम), सुश्री निवरुती राय (भारत प्रमुख, इंटेल इंडिया), श्री डेनिस ओंग (विशिष्ट वास्तुकार और वास्तुकला और सिस्टम इंजीनियरिंग प्रमुख, वेरिज़ोन) और श्री पी आनंदन (सीईओ, वाधवानी एआई) शामिल हैं। 

मूव हैक से अपेक्षाकृत गतिशीलता से संबंधित चुनौतियों के लिए अग्रणी और सरल समाधानों को सुलझाने की उम्मीद है और एकीकृत, अंतःस्थापित और आविष्कारशील वैश्विक समुदाय के विकास के लिए मार्ग प्रशस्त किया जाएगा।

नीति आयोग के सीईओ श्री अमिताभ कांत ने कार्यक्रम के शुभारंभ के अवसर पर कहा कि  "मूव हैक दुनिया का पहला मंच है जिसने सार्वजनिक परिवहन, निजी परिवहन, सड़क सुरक्षा, बहुआयामी कनेक्टिविटी और शून्य उत्सर्जन वाहनों जैसी नई आयु परिवहन प्रौद्योगिकी को शामिल किया है। हम भारत में सबसे अच्छे विचार चाहते हैं और वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने और इन चुनौतियों के लिए प्रोटोटाइप और समाधान के साथ आना चाहते हैं। यदि आप भारत के लिए समाधान कर सकते हैं, तो आप दुनिया के समाधान कर सकते हैं और हम वहां पहुंचने में आपकी सहायता करेंगे।

कार्यक्रम के लिए आवेदन की अंतिम तिथि और मूक हैक के बारे में जानकारी के लिए कृपया https://www.movehack.gov.in पर जाएं।

 

वीके/पीकेए/पीबी – 9712

 

 

 

 



(Release ID: 1541263) Visitor Counter : 1120