विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • अंतरिक्ष विभाग
  • चन्‍द्रयान-2 का चन्‍द्रमा की निर्धारित कक्षा में प्रवेश : इसरो अध्‍यक्ष  
  • गृह मंत्रालय
  • गृह मंत्री ने एनआरसी से जुड़े मुद्दों की समीक्षा की  
  • कैबिनेट सचिव ने हिमाचल प्रदेश, पंजाब, उत्‍तराखंड, हरियाणा और दिल्‍ली में बाढ़ की स्थिति की समीक्षा करने के लिए एनसीएमसी बैठक की अध्‍यक्षता की  
  • युवा मामले और खेल मंत्रालय
  • राष्ट्रीय खेल पुरस्कार -2019 की घोषणा,बजरंग पुनिया और दीपा मलिक को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार दिया जाएगा  
  • रक्षा मंत्रालय
  • रक्षामंत्री श्री राजनाथ सिंह का मेक इन इंडिया के तहत रक्षा क्षेत्र में निजी क्षेत्र की साझेदारी बढ़ाने का आह्वान; आयात पर निर्भरता में कमी लाने की आवश्यकता पर बल  
  • संघ लोक सेवा आयोग
  • सम्मिलित चिकित्सा सेवा परीक्षा, 2019  
  • मत्स्यपालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय
  • मेघालय के मुख्‍यमंत्री श्री कॉनराड संगमा ने केन्‍द्रीय मत्‍स्‍य पालन, पशुपालन एवं डेयरी मंत्री श्री गिरि‍राज सिंह से भेंट की  

 
वित्त मंत्रालय28-मार्च, 2014 17:28 IST

दिसम्‍बर 2013 के अंत में भारत का विदेशी कर्ज 426.0 अरब अमरीकी डॉलर, मार्च 2013 के अंत के स्‍तर पर 21.1 अरब (5.2 प्रतिशत) की बढ़ोतरी

वित्‍त मंत्रालय का आर्थिक मामलों का विभाग हर वर्ष सितम्‍बर और दिसम्‍बर के अंत में समाप्‍त तिमाही के लिए भारत के विदेशी कर्ज के बारे में आंकड़े एकत्र करता है और उन्‍हें जारी करता है। दिसम्‍बर 2013 के अंत में भारत के विदेशी कर्ज संबंधी आंकड़े जारी कर दिए गए हैं।

दिसम्‍बर 2013 के अंत में भारत का कुल विदेशी कर्ज 426.0 अरब अमरीकी डॉलर था, जो मार्च 2013 की समाप्ति के स्‍तर पर 21.1 अरब अमरीकी डॉलर यानी 5.2 प्रतिशत अधिक है। जीडीपी अनुपात में भारत का विदेशी कर्ज मार्च 2013 की तुलना में दिसम्‍बर 2013 की समाप्ति पर 23.3 प्रतिशत रहा।

इस अवधि के दौरान विदेशी कर्ज में वृद्धि दीर्घकालिक कर्ज विशेषकर एनआरआई की जमा राशि के कारण हुई। एनआरआई की जमा राशि में तेजी से वृद्धि सितम्‍बर-नवम्‍बर 2013 के दौरान अदला-बदली योजना के अंतर्गत ताजा एफसीएनआर(बी) जमा के प्रभाव के कारण दिखाई दी।

दीर्घकालिक कर्ज दिसम्‍बर 2013 की समाप्ति पर 333.3 अरब अमरीकी डॉलर रहा जो मार्च 2013 की समाप्ति के स्‍तर पर 8.1 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है। जबकि अल्‍पकालिक कर्ज 4.1 प्रतिशत कम होकर 92.7 अरब अमरीकी डॉलर हो गया।

अल्‍पकालिक कर्ज भारत के कुल विदेशी कर्ज का 21.8 प्रतिशत था, जबकि शेष (78.2 प्रतिशत) दीर्घकालिक कर्ज था। व्‍यावसायिक उधार कुल विदेशी कर्ज का 31.5 प्रतिशत, एनआरआई जमा (23.2 प्रतिशत) और बहुउद्देश्‍यीय कर्ज (12.3 प्रतिशत) था।

सरकार का विदेशी कर्ज दिसम्‍बर 2013 की समाप्ति पर 76.4 अरब अमरीकी डॉलर (कुल विदेशी कर्ज का 17.9 प्रतिशत) था जबकि मार्च 2013 की समाप्ति पर यह 81.7 अरब अमरीकी डॉलर (20.2 प्रतिशत) था।

दिसम्‍बर 2013 की समाप्ति पर भारत के विदेशी कर्ज की सम्‍पूर्ण तिमाही रिपोर्ट वित्‍त मंत्रालय की वेबसाइट- www.finmin.nic.in पर उपलब्‍ध है।

वि.कासोटिया/कविता-1258
(Release ID 27502)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338