विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • उप राष्ट्रपति सचिवालय
  • उपराष्ट्रपति ने बाल्टिक क्षेत्र में भारत के संपर्क को आगे बढ़ाने के लिए तीन देशों का दौरा आरंभ किया;  

 
परमाणु ऊर्जा विभाग23-नवंबर, 2011 18:53 IST

विरल मृदा भंड़ार

मोनाज़ाइट भारत में विरल मृदा का प्रमुख स्रोत है। हैदराबाद स्थित परमाणु खनिज अन्वेषण एवं अनुसंधान निदेशालय (एएमडीईआऱ) की रिपोर्ट के अनुसार देश में लगभग 10.70 मिलियन टन मोनाज़ाइट का भंड़ार है जो लगभग पांच मिलियन टन विरल मृदा ऑक्साइड में तबदील किया जा सकता है।

अगस्त 2009 के अनुसार 3.74 टन के साथ आंध्र प्रदेश में इसकी सर्वाधिक मात्रा है। इसके पश्चात तमिलनाडु में 2.16 मिलियन टन, ओड़िशा में 1.85 टन, केरल में 1.51 टन, पश्चिम बंगाल में 1.22 टन और बिहार में 0.22 टन मोनाज़ाइट की मात्रा है।

प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री श्री वी. नारायणसामी ने आज लोक सभा में श्री प्रेम दास राय को एक लिखित उत्तर में यह जानकारी दी।

****


वि. कासोटिया/विजयलक्ष्मी -4532
(Release ID 12113)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338